REWA : विजयदशमी की रात दो पक्षों में जमकर हुई मारपीट व चाकूबाजी : 11 थानों का पहुंचा पुलिस बल, 9 लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

विजयादशमी की रात रीवा शहर में वर्ग विशेष के लोगों द्वारा सामाजिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश की गई है। पुलिस के मुताबिक शुक्रवार की रात करीब 10 बजे मोहल्ले में कुछ शरारती तत्वों द्वारा नशाखोरी के लिए एक युवक से 1 हजार रुपए मांग रहे थे। उसने मना किया तो आरोपियों ने गाली देते हुए दौड़ा लिया। वह जान बचाते हुए भीतर घुस गया।

हल्ला सुनकर मोहल्ले के अन्य लोग दौड़े तो वर्ग विशेष के लोगों ने एक दर्जन लोगों को बुलाकर मारपीट शुरू कर दी। साथ ही लाठी डंडे से हमला करता हुए चाकू भी मारे। इसी बीच घर के बाहर खड़ी कारों में तोड़ फोड़ शुरू कर दी। देखते ही देखते मोहल्ले में भगदड़ मच गई। इसी बीच किसी ने कलेक्टर इलैया राजा टी और एसपी नवनीत भसीन को सूचना दे दी।

बड़े बवाल की आशंका को देखते हुए एसपी ने सभी शहरी थानों के पुलिस अधिकारियों को तुरंत घटनास्थल पर भेजा। साथ ही लॉ एंड आर्डर बनाने के लिए एएसपी शिवकुमार वर्मा, एडीएम शैलेन्द्र कुमार सिंह, सीएसपी एनएन प्रसाद, सीएसपी 2 प्रतिभा शर्मा व डीएसपी सहित एसडीएम और तहसीलदार भी रात भर डटे रहे।

FIR के अनुसार घटनाक्रम

फरियादी बृजेन्द्रनाथ गुप्ता पुत्र रामस्वरूप गुप्ता (63) और रोशन केवट पुत्र स्वगीर्य बाबूलाल केवट (26) निवासी घोघर मच्छरदानी गली ने बताया कि 15 अक्टूबर की रात 11 बजे मैं अपने घर के सामने खड़ा था। उसी समय शेखू खान, राहत खान, रेहान खान, यासीन खान, हसीन खान, गुलाम गौस निवासी घोघर के साथ तीन चार अन्य लोग आकर हमारे घर के समाने खड़े हो गए।

तभी शेखू खान पास आकर बोला शराब पीने के लिए एक हजार चाहिए। उसने कहा कि मेरा धंधा बंद है। वर्तमान समय में मेरे पास पैसे नहीं है। इतना सुनने ही आरोपी गाली देते ही मेरे घर की ओर दौड़ा। साथ ही कमरे के अंदर घुसकर मारपीट करने लगे।

मेरे चीखने चिल्लाने की आवास सुनकर रोशन केवट दौड़ा। उसको भी आरोपियों ने जमकर मारा। साथ ही चोंट पहुंचाते हुए जख्मी कर दिया। इसी बीच मोहल्ले के​ निखिल अहूजा व निखिल गुप्ता सहित अन्य लोग बचाने के लिए दौड़े। तब आरोपी पक्ष के लोग कई कारों का सीसा तोड़ते हुए फरार हो गए।

12 बजे रात कलेक्टर, एसपी पहुंचे घटनास्थल

वर्ग विशेष के लोगों द्वारा दशहरा पर्व के दिन जानबूझकर ​बवाल करने की घटना को कलेक्टर ने तुरंत संज्ञान में लिया। साथ ही एसपी को लेकर मौके पर पहुंचे। लेकिन पुलिस बल कम होने के कारण लॉ एंड आर्डर आउट ऑफ कंट्रोल से बाहर था। फिर भी मोहल्ले के लोगों को समझाइश देकर तत्काल कार्रवाई का आश्वासन देते रहे।

11 थानों का पहुंचा पुलिस बल पहुंचा

सिटी कोतवाली थाना प्रभारी एपी सिंह ने बताया कि रात में स्थितियां बिकट थी। लेकिन कलेक्टर के निर्देश पर अब सब सही है। मोहल्ले में लोगों के बीच अपराधियों का डर खत्म करने के लिए शहर के 7 सहित ग्रामीण के 4 थानों का बल सुबह 4 बजे तक तैनात रहा।

इन थानों का बल रहा शामिल

पुलिस ने लॉ एंड आर्डर को बनाने के लिए शहर का सिटी कोतवाली थाना, सिविल लाइन थाना, चोरहटा थाना, बिछिया थाना, समान थाना, अमहिया थाना, विश्वविद्यालय थाने का बल शामिल रहा। साथ ही देहात के गुढ़ थाना, गोविंदगढ़ थाना, रायपुर कर्चुलियान थाना और सगरा थाने के बल की मदद ली गई है।

पूरी रात अधिकारियों ने किया जागरण

जिला प्रशासन के सूत्रों ने बताया कि सिटी कोतवाली थाना अंतर्गत घोघर के मच्छरदानी मोहल्ले के रात में बिकट हालात थे। हालांकि एसपी ने पूरे मामले को संभाल लिया है। अब शनिवार को हालात सामान्य से देखे गए है। लेकिन जिला प्रशासन व पुलिस विभाग के अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक रातभर जागरण किए है।

9 लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज

सिटी कोतवाली पुलिस ने दशहरे की रात मारपीट सहित बवाल मचाने वाले शेखू खान, राहत खान, रेहान खान, यासीन खान, हसीन खान, गुलाम गौस निवासी घोघर सहित तीन अन्य खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 327, 452, 323, 427, 294, 506 का अपराध दर्ज कर लिया है।

Powered by Blogger.