REWA : रेहवा घाटी में फंसे एक सैकड़ा मवेशी : चौथे दिन के रेस्क्यू ऑपरेशन में 32 गोवंश को निकाला, घाट से गिरने से दो दर्जन से ज्यादा मवेशी की हो चुकी मौत

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा जिले के सिरमौर वन परिक्षेत्र के रेहवा घाटी में फंसे एक सैकड़ा मवेशियों में सोमवार को चौथे दिन के रेस्क्यू ऑपरेशन में 32 गोवंश को निकाला गया। चौथे दिन रेस्क्यू का नेतृत्व उप वन मंडलाधिकारी ऋषि कुमार मिश्रा की उपस्थिति में किया गया। हालांकि अभी भी घाटी में काफी संख्या में गोवंश फंसा हुआ है, जिनके निकालने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

बता दें कि 27 सितंबर की दरमियानी रात दो दर्जन आपराधिक तत्वों द्वारा वारदात की गई थी। मौके पर मौजूद लोगों का दावा था कि 25 से 30 लोग लाठी डंडों से पीटते हुए 150 से अधिक गोवंशों को सरई कला ग्राम पंचायत की रेहवा घाटी में लाकर धकेल दिए थे। इसमें ज्यादातर गाय गाभिन और दुधारू थी। इसमे कुछ बैल और बछड़े शामिल थे।

दो दर्जन से ज्यादा मवेशियों की हो चुकी है मौत

सामाजिक कार्यकर्ता शिवानंद द्विवेदी ने बताया कि गढ़ थाना अंतर्गत रेहवा घाटी से रेस्क्यू कर पहले दिन 2 मवेशी, दूसरे दिन 8, तीसरे दिन 58 गोवंश निकाले गए थे। साथ ही चौथे दिन 32 मवेशी बाहर निकल चुके है। वहीं ग्रामीणों के बीच चर्चा है कि घाट से गिरने के कारण दो दर्जन से ज्यादा मवेशी मर चुके है। जबकि कुछ मवेशियों का पैर फैक्चर है।

अभी भी फंसे हैं 2 दर्जन से अधिक गोवंश

सामाजिक कार्यकर्ता ने बताया कि अभी भी 2 दर्जन गोवंश फंसे हैं, जिनको निकालने के लिए फिर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जाएगा। ऐसे में वन विभाग व पंचायत का सहयोग लिया जाएगा। साथ ही मिस्त्री की मदद से रास्ता ठीक करने का प्रयास होगा। देखा जाएगा कि क्या गोवंश ऊपर चढ़ पाने में सक्षम हैं। यदि गोवंश ऊपर नहीं पहुंच पाते तो उन्हें ऊपर लाने के अन्य माध्यमों का सहारा लिया जा सकता है।

Powered by Blogger.