MP : थाना प्रभारियों की क्राइम बैठक : SP ललित शाक्यवार का थाना प्रभारी को अल्टीमेटम, अगर कार्य में सुधार नहीं हुआ तो छीन लिए जाएंगे थाने

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

                     

पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार ने गुरुवार को जिले के सभी थाना प्रभारियों की क्राइम बैठक ली। बैठक में उन्होंने खराब प्रोगेस वाले थाना प्रभारियों को लताड़ लगाई। उन्होंने सभी थाना प्रभारियों को अल्टीमेटम देते हुए कहा है कि आप लोगों को 12 दिन का समय दिया जाता है। 18 अक्टूबर तक अगर आप लोगों के कार्यों मे सुधार नहीं आया तो थाना प्रभारी, थाना प्रभारी नहीं रहेगा यानि फेरबदल कर दिया जाएगा। यह सुनकर बैठक में उन थानेदारों के मुंह सूख गए जिनकी प्रोग्रेस खराब थी। इसी के साथ बागचीनी थाना प्रभारी शिवप्रताप राजावत को शासकीय कार्य में लापरवाही पर दो हजार रुपए के अर्थदण्ड से दंडित किया गया बताया जाता है।

यहां बता दें, कि जिले में पिछले कुछ दिनों में क्राइम रेशियो बढ़ा है वहीं शराब व हथियारों की तस्करी में यकायक इजाफा हुआ है। इस इजाफे ने पुलिस विभाग की चिंता बढ़ा दी है। मुरैना में शराब की तस्करी धीरे-धीरे एक लीगल व्यापार का रुप लेते जा रही है। साम्प्रदायिक दंगे भड़कने लगे हैं। हाल ही में सम्राट मिहिरभोज को लेकर दो सम्प्रदायों में दंगे हुए। सरेआम पोस्टर फाड़े गए, बसों की तोड़फोड़ की गई, जिन्होंने पुलिस विभाग की काफी करिकरी की है। इस बात की नाराजगी क्राइम बैठक में भी देखी गई।

चार थानों पर कम प्रोग्रेस को लेकर पड़ी लताड़

सूत्रों की माने तो बैठक में शहर के चार थाने जिनमें सरायछोला, सिविल लाइन, स्टेशन रोड व बानमौर पर कम प्रोग्रेस को लेकर फटकार लगाई गई है। इन थानेदारों को भी स्पष्ट अल्टीमेटम दिया जा चुका है कि वे 12 दिन के अन्दर अपनी प्रोग्रेस सुधार लें, वरना उलटफेर के लिए तैयार रहें।

मुरैना से भिण्ड तक हो रही शराब की सप्लाई

बैठक में पुलिस अधीक्षक ने थानेदारों को फटकार लगाते हुए कहा कि मुरैना से भिण्ड तक प्रतिदिन लगभग 200 वाहनों से तस्करी हो रही है और तुम लोग चार ठौर गाड़ियां पकड़ लेते हो। इस तरह से काम होगा क्या? उन्होंने कहा कि पूरी ताकत से शराब तस्करी पर रोक लगाएं वरना परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें।

तुम पर अपना काम तो हो नहीं रहा, दूसरों को काम क्यों ले लेते हो

बैठक में एसपी ने सिविल लाइन थाना प्रभारी को फटकार लगाते हुए कहा कि तुम पर अपना तो काम हो नहीं रहा है, तुम दूसरों के काम ले रहे हो। खाद के लिए किसानों को पर्ची बटवाने का काम अपने हाथ में क्यों ले लिया। पहले अपने काम पर ध्यान दो, इसके बाद दूसरे काम पर हाथ डालो।

Powered by Blogger.