बड़े धोखेबाज होते हैं ऐसी कुंडली वाले लड़के, लड़कियां, इनसे जरूर बचकर रहें...

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

कहा जाता हैं कि बिना विश्वास के कोई भी रिश्ते नातों को नहीं निभाया जा सकता, फिर चाहे वह पति-पत्नी का दोस्ती का, प्रेमी जोड़ों का या फिर अन्य को रिस्ता, क्योंकि जहां विश्वास खत्म हुआ समझों वहां रिश्ता भी खत्म । ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुछ लड़के, लड़कियों की कुंडली में ऐसे योग होते है जिनके कारण बिना कारण भी कुंडली ग्रह ऐसी स्थिति बना देते हैं कि उनके सही होने पर भी उनके उपर कोई विश्वास ही नहीं कर पाते । और उन्हें धोखेबाज, दगाबाज, बेवफा जैसा कहा जाने लगता है । जाने आखिर वे कौन-कौन से ग्रह है जिनके कारण ऐसा होता है ।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार किसी भी जातक की जन्म कुंडली में मंगल, शुक्र और चंद्र की स्थिति देखकर उसके व्यक्तित्व के बारे में पूर्ण रूप से पता लगाया जा सकता है । ज्योतिष में मंगल को पाप ग्रह माना गया है और यही मंगल दूसरे ग्रहों के साथ मिलकर अनैतिक संबंध बनवाता है, वहीं शुक्र प्रेम, आकर्षण, यौन संबंधों का कारक ग्रह है और चंद्र मानसिक स्थिति बदलने की क्षमता रखता है । ये तीनों ग्रह मिलकर किसी भी व्यक्ति को कार्यो को करने के लिए विवश कर देते है, और ना चाहते हुए भी ऐसे जातक गलत काम करने लग जाते है या फिर किसी को धोखा देने लगते है ।

ऐसे लड़के, लड़कियों से जरूर सावधान रहे

1- अगर किसी लड़की की कुंडली में किसी भी स्थान पर कन्या राशि में मंगल होता है तो उन लड़कियों का चरित्र संदेहजनक होता है ।

2- अगर किसी भी लड़के या लड़की की कुंडली में शुक्र और मंगल एक ही राशि में हो तो ऐसे लड़के, लड़कियों के एक से अधिक गुप्त प्रेम संबंध चलते रहते हैं ।

3- किसी लड़की की कुंडली के लग्न स्थान यानी पहले भाव में जो राशि हो उस राशि का स्वामी पाप ग्रहों के साथ मिल कर बारहवें भाव में बैठा हो तो उस लड़की का चरित्र बहुत ही ढीला होता है, और ऐसी लड़की वह हर किसी परपुरुष के साथ संबंध बनाने को आतुर रहती है ।

4- कुंडली के लग्न स्थान यानी पहले भाव में कन्या राशि हो और उसमें मंगल बैठा हो और सातवें स्थान में शुक्र हो तो ऐसी लड़कियों के एक से अधिक बॉयफ्रेंड होते हैं ।

5- जिन लड़कों की कुंडली में चंद्र और शुक्र एक ही राशि में होते हैं ऐसे लड़के धोखा देकर भाग जाते है ।

6- कुंडली के सातवें स्थान में अशुभ ग्रह बैठा हो तो यह संकेत है कि विवाह के पहले ही लड़की या लड़के में से कोई एक धोखा दे सकते है या फिर दूसरे अवैद्ध संबंध के चक्कर में शादी विवाह से इंकार भी कर देते है ।

7- अगर किसी की कुंडली में राहु खराब हो तो वह व्यक्ति बेईमान और धोखेबाज बन जाता है । राहु के कारण ऐसा व्यक्ति तरक्की नहीं कर पाता और फिर आगे बढ़ने के लिए गलत रास्ते चुनता है ।

8- अगर किन्हीं लड़कियों का राहु खराब हो तो ऐसे में वे लड़कियां आगे बढ़ने के लिए अपने जिस्म का इस्तेमाल करने से भी परहेज नहीं करती ।

9- अगर किसी की कुंडली में केतु हो तो वह भी काफी हद तक व्यक्ति को धोखेबाज बना देता है ।

10- केतु के प्रभाव में आकर व्यक्ति का स्वभाव कठोर हो जाता है और उसका बोलचाल भी गंदा हो जाता है, ऐसे लोग रात में ज्यादा गलत काम करते है ।

Powered by Blogger.