SATNA : जमीन पर कब्जे को लेकर दो पुराने विरोधी गुट आपस मे भिड़े : 13 घायल, चार जिला अस्पताल रैफर

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


जिले के भटूरा गांव में रंजिश के चलते दो गुटों के बीच हुए खूनी संघर्ष में दोनो पक्षों के दर्जन भर लोग घायल हो गए हैं। घायलों में चार की हालत गंभीर हैं। उन्हें सतना जिला अस्पताल रैफर किया गया है। जानकारी के अनुसार, भटूरा गांव में रविवार दोपहर एक आदिवासी महिला कामता बाई की जमीन पर कब्जे को लेकर दो पुराने विरोधी गुट आपस मे उलझ गए। विवाद बढ़ा तो लाठी डंडे चलने लगे।

मारपीट में ये हुए घायल

घटना में एक पक्ष के कामता बाई सिंह गौड़, हनुमान दीन पटेल, नारायण पटेल और ददुआ पटेल घायल हुए हैं। दूसरे पक्ष के तीरथ पटेल, गोविंद पटेल, बबलू पटेल, प्रदीप पटेल, विजय पटेल, जितेंद्र पटेल, रेखा पटेल, मुन्नी बाई और रिंकी पटेल को चोटें आई हैं। घायलों को मैहर सिविल अस्पताल ले जाया गया है। उनमें से चार जिला घायलों को जिला अस्पताल रैफर किया गया है।

अवैध उत्खनन के कारण पुराना है झगड़ा

मैहर का भटूरा क्षेत्र लाइम स्टोन की वैध-अवैध उत्खनन के लिए बदनाम है। यहां तमाम लोग अवैध उत्खनन कर लाइम स्टोन निकालते हैं और सीमेंट कंपनियों-क्रशरों को सप्लाई करते हैं। जिन दो गुटों के बीच विवाद हुआ, वे भी अवैध उत्खनन के कारोबार में संलिप्त हैं। एक गुट के तीरथ पटेल वगैरह ने आदिवासी महिला कामता बाई की जमीन पर कब्जा करने की कोशिश की तो उसकी तरफ से हनुमान दीन, नारायण पटेल वगैरह आ खड़े हुए। हनुमानदीन और तीरथ वगैरह का उत्खनन को लेकर पुराना विवाद भी था। कामता बाई की जमीन पर कब्जे का ये मामला पुरानी रंजिश के नए विवाद का सबब बन गया। पुलिस ने इस मामले में दोनो पक्षों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

Powered by Blogger.