MP : 3 साल पहले लव मैरिज : जिसके संग सात फेरे लिए उसी की जान ली, लड़की का जन्म होने पर युवक ने अपनी पत्नी की गला दबाकर कर दी हत्या

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


छिंदवाड़ा में लड़की का जन्म होने पर युवक ने अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी। दोनों ने 3 साल पहले लव मैरिज की थी। 6 महीने पहले जब महिला ने बेटी को जन्म दिया, तो युवक पत्नी के साथ झगड़ा करने लगा। घटना गुरुवार देर रात की है। पहले आरोपी पुलिस को गुमराह करता रहा। मामले का खुलासा होने के बाद रविवार को पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है।

कुंजपुरा थाना टीआई पूर्वा चौरसिया के मुताबिक, माचागोरा गांव के रहने वाले चंद्रभान वर्मा (32) और हिरनाखेड़ी की रहने वाली रिंकी चौधरी (23) ने 2019 में लव मैरिज की थी। दोनों नागपुर में रहने लगे। यहां चंद्रभान ढाबे पर काम करता था। शादी के बाद चंद्रभान के परिवार वाले उस पर रिंकी को छोड़ने का दबाव बना रहे थे। जातिगत ताने देकर दोनों में झगड़ा भी होता रहता था।

गुरुवार रात करीब 1:00 बजे दोनों के बीच फिर विवाद हुआ। चंद्रभान ने रिंकी से मारपीट भी की। कुछ देर बाद उसने डायल 100 को सूचना दी कि उसकी पत्नी पानी की टंकी में गिर गई है। पुलिस उसे अस्पताल ले गई, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने मौके पर देखा, तो स्थिति संदिग्ध नजर आई। शक के आधार पर चंद्रभान को हिरासत में लिया। पुलिस ने रिंकी के घरवालों से भी पूछताछ की। वह बार-बार बयान बदलने लगा। सख्ती करने पर चंद्रभान ने गुनाह कबूल कर लिया।

बेटी होने पर बढ़ा विवाद, पैदल आई छिंदवाड़ा

रिंकी के भाई रविंद्र चौधरी के मुताबिक, 2019 में रिंकी गांव से छिंदवाड़ा पढ़ने आई थी। यहीं उसका संपर्क चंद्रभान से हुआ। कुछ माह बाद दोनों ने शादी कर ली। दोनों के ही परिवार वाले इससे खुश नहीं थे। करीब 6 महीने पहले रिंकी ने बेटी को जन्म दिया। इसके बाद चंद्रभान उसे और ज्यादा प्रताड़ित करने लगा। वह कहता था कि उसे लड़का चाहिए था। रविंद्र का कहना है कि करीब 3 महीने पहले दोनों के बीच विवाद बढ़ गया। उसने रिंकी को घर से भी निकाल दिया। ऐसे में रिंकी 125 किलोमीटर बच्ची को लेकर नागपुर से पैदल छिंदवाड़ा आई थी।

इसके बाद हरिजन थाने में शिकायत भी की गई थी। यहां से मामला परिवार परामर्श केंद्र भेज दिया गया। यहां चंद्रभान को बुलाकर दोनों के बीच सुलह करवा दी गई। इसके बाद दोनों छिंदवाड़ा में ही रहने लगे। यहां चंद्रभान एक बीयर बार में काम करने लगा।

8 से 10 घंटे पुलिस के पास रही मासूम

वारदात के बाद पुलिस ने पति को हिरासत में ले लिया था। इस दौरान करीब 8 से 10 घंटे 6 माह की बच्ची राजनंदिनी पुलिस के पास रही। उसे पुलिस ने संभालकर रखा। फिलहाल बच्ची अपने नाना-नानी के पास है। वही उसकी देखभाल करेंगे।

Powered by Blogger.