MP : जलती चिता का स्टेटस लगाकर लिखा गुडबाय : 12 दिन में दो सहेलियों ने दी जान, पुलिस ने फोन किया तो लड़की ने लगाई फांसी

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

उज्जैन की 13 साल की एक लड़की ने अपनी फ्रेंड के सुसाइड के बाद जान दे दी। फांसी लगाने से पहले उसने अपने वॉट्सऐप स्टेटस में जलती चिता का फोटो और गुडबाय लिखा मैसेज लगाया था। परिवार का कहना है कि इंदौर पुलिस का उसके पास पूछताछ के लिए फोन आया था। उसे इंदौर आकर बयान देने के लिए कहा जा रहा था। इसके बाद वह तनाव में आ गई और फांसी लगा ली। जीवाजीगंज थाना टीआई गगन बादल ने कहा कि मेघा ने किस कारण से सुसाइड किया, यह स्पष्ट नहीं है। उसकी कॉल डिटेल के आधार पर ही कुछ कहा जा सकेगा।

घटना उज्जैन के गढ़कालिका क्षेत्र की है। यहां पर मेघा (13) अपने नाना के यहां रहती थी। बुधवार रात सभी भाई बहनों ने एक साथ खाना खाया। कुछ देर बाद सो गए। देर रात जब एक बहन दिव्या की नींद खुली, तो उसने मेघा को पंखे पर लटकते देखा। मेघा के नाना सीताराम और परिवार के अन्य सदस्य उसे लेकर तुरंत जिला अस्पताल पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

बड़ी बहन दिव्या ने बताया कि मेघा की दोस्त तनु (14) पहले यहीं रहती थी, इसलिए दोनों में दोस्ती हो गई। बाद में तनु इंदौर चली गई। दोनों इंस्टाग्राम और मोबाइल फोन पर लगातार संपर्क में थीं। परिजनों ने बताया कि 25 सितंबर को तनु ने इंदौर में सुसाइड कर लिया। उसके बाद से ही मेघा सदमे में थी। एक-दो दिन पहले उसके पास इंदौर से पुलिस का फोन आया था। वे मेघा से बात करके बयान लेने की बात कह रहे थे। परिजन फोन करने वाले पुलिसकर्मी का नाम नहीं बता सके। इसके बाद से मेघा ज्यादा तनाव में आ गई थी।

धार में किया अंतिम संस्कार

मेघा का परिवार धार का रहने वाला है। गुरुवार को पोस्टमॉर्टम के बाद मेघा के पिता भेरूलाल उसका शव धार ले गए। वहां पर अंतिम संस्कार किया गया।

इंदौर पुलिस का फोन आया था

बुधवार को भी इंदौर पुलिस का फोन आने पर मेघा की बड़ी बहन दिव्या ने इंदौर पुलिस से बात की थी। पुलिस ने कहा कि पूछताछ करने के लिए आना ही पड़ेगा।

Powered by Blogger.