MP : अफजल उर्फ इरशाद मंसूरी से जेंडर चेंज कर बनी जोया : दिल्ली में रहने बाद आई इंदौर, जानिए, जोया का ट्रेनों में भीख मांगने से ग्लैमरस लाइफ तक का सफर...

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

इंदौर में रियल एस्टेट के सेल्स डायरेक्टर के मर्डर में शामिल किन्नर जोया कभी लड़का था। उसका नाम अफजल उर्फ इरशाद मंसूरी थी। उसका चेहरा और हावभाव लड़कियों वाला था। इसका फायदा उठाकर वह इंदौर-खंडवा ट्रेन में किन्नर के गेटअप में वसूली करता था। इस दौरान जब असली किन्नरों को पता चला तो उसकी पिटाई भी हुई। धीरे-धीरे वो किन्नरों से घुल मिल गया। इसके बाद इरशाद मंसूरी ने फरीदाबाद में अपना जेंडर चेंज करवाया और जोया बनकर इंदौर लौटा। फिर जोया पबों में MD ड्रग्स (यह ड्रग्स सेलिब्रिटीज की पार्टी में इस्तेमाल होता है) लेना सीखा और बदमाश की पत्नी बनकर रहने लगी।

इंदौर में आजाद नगर के यादव नगर में रहनी वाली जोया मूल रूप से महाराष्ट्र के अकोला की रहने वाली है। इंदौर में अपने रिश्तेदारों के यहां रहने आई थी और इसके बाद यहीं बस गई। जोया की कहानी किसी फिल्म से कम नहीं है। जानिए, जोया का ट्रेनों में भीख मांगने से ग्लैमरस लाइफ तक का सफर...

दिल्ली के पास फरीदाबाद में जेंडर चेंज कराया

अफजल उर्फ इरशाद मंसूरी ने 2017 में फरीदाबाद में जेंडर चेंज कराया। जोया बनने के बाद वह कुछ समय तक दिल्ली में रही, फिर इंदौर आ गई। यहां आजाद नगर में रहने वाला शाहिद नाइट्रा जोया के प्यार में पड़ गया। फिर दोनों ने निकाह कर लिया। जोया की कुछ हरकतें (मारपीट, नशा करना) ऐसी थी जिसके चलते इंदौर के किन्नरों ने उसे अपने ग्रुप में शामिल नहीं किया। शाहिद भी रियल एस्टेट के सेल्स डायरेक्टर के मर्डर में शामिल है।

पब और पार्टियों में MD ड्रग्स की लत लगी

जोया ने रुपए की चाहत के लिए पब और पार्टियों में युवकों को लुभाना शुरू कर दिया। उसने पबों का रुख कर लिया। यहां जोया को MD ड्रग्स की लत पड़ गई। वह नए लड़कों से दोस्ती बढ़ाने लगी। इस दौरान वह अकेली पार्टियों में जाती थी।

डेटिंग साइट्स से जुड़ी, होटल में बुलाकर लूटती थी

जोया ने डेटिंग साइट से भी जुड़ी। जान-पहचान होने के बाद जोया संबंध भी बनाने लगी। जोया ने कबूला है कि इस दौरान उसने कई युवकों को लूटा था। पीड़ितों ने डर और शर्म की वजह से थाने में कभी शिकायत नहीं की। जोया के साथ एक अन्य साथी शिल्पा का नाम भी सामने आया है। पुलिस उससे और वारदातों को लेकर पूछताछ कर रही है।

खंडवा में चल रहा केस

जोया उर्फ अफजल उर्फ इरशाद मंजूरी पर खंडवा में केस दर्ज है। 2012 में इंदौर-खंडवा ट्रेन से एक पैसेंजर को लूटने के बाद नीचे फेंक दिया था। इस दौरान ट्रेन चल रही थी। रिपोर्ट लिखी गई थी, तब इसने अपना नाम शोएब पुत्र कादर अब्बासी बताया था।

Powered by Blogger.