REWA : पत्नी की हत्या और SI पति का मामला उलझा : वीडियो पहुंचने की आशंका पर बिना बताए बाइक से 240 KM दूर पहुंचे शहडोल, कॉल डिटेल्स निकालने की तैयारी में जुटी पुलिस

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा के पनवार थाना प्रभारी और SI हीरा सिंह की खुदकुशी और पत्नी की हत्या मामला उलझ गया है। रविवार को फॉरेंसिक टीम ने घटनास्थल की जांच की। पता चला है कि हीरा सिंह शनिवार सुबह 6 बजे बगैर किसी को बताए बाइक से 240 KM दूर शहडोल पहुंचे थे। वह यहां पुलिस लाइन के पास पटेल नगर में वार्ड 12 में रहते थे। घटनास्थल से पुलिस को शराब की बोतल और सिगरेट भी मिली है। पुलिस अब उनकी कॉल डिटेल्स निकालने की तैयारी कर रही है।

हीरा सिंह ने शनिवार को सर्विस रिवॉल्वर से पत्नी रानी की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद खुद की कनपटी पर फायर कर खुदकुशी कर ली थी। दोनों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी।

बिना सूचना दिए गए शहडोल: एसपी

रीवा एसपी नवनीत भसीन ने बताया ​कि हीरा सिंह ने शहडोल जाने से पहले सूचना नहीं दी थी। यहां तक कि पनवार थाने के किसी भी स्टाफ को भी कुछ नहीं बताया था। उन्होंने कभी पारिवारिक परेशानियों के बारे में चर्चा नहीं की थी। अगर पुलिस के अधिकारी व कर्मचारी समस्या को वरिष्ठ अधिकारियों के पास रखते हैं, तो लाइन या ऑफिस कार्य में लगा लिया जाता है। हीरा सिंह सुलझे हुए थे। हर जिम्मेदारी को बखूबी निभाते थे।

वारदात से पहले पी थी शराब

एफएसएल यूनिट के वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी डॉ. आरपी शुक्ला की मानें तो शनिवार रात व रविवार सुबह घटनास्थल का निरीक्षण किया गया था। कमरे में शराब की 360 एमएल की बोतल खाली मिली है। साथ ही शराब के दो गिलास व जली हुई सिगरेट मिली है। सूत्रों का मानना है कि खौफनाक कदम उठाने से पहले एसआई ने शराब पी। फिर पत्नी के पर फायर कर खुद को गोली मार ली।

वीडियो पहुंचने की चर्चा

अधिकारियों के बीच चर्चा थी कि आशंका है कि कोई वीडियो सब इंस्पेक्टर के पास पहुंचा था, जिससे वे आक्रोशित हो गए। ऐसे में तुरंत सुबह रीवा से चलकर दोपहर बाइक से ही शहडोल पहुंच गए। पत्नी से वस्तुस्थितियां पता करने के बाद मरने-मारने पर उतारू हो गए। होश में तो वह ऐसा कर नहीं सकते।

हर पहलू की कर रहे जांच

कोतवाली थाना प्रभारी रत्नाम्बर शुक्ला ने बताया कि मामले के हर पहलुओं की जांच चल रही है। शराब की दो गिलास से लेकर आस-पास से जानकारी एकत्र की जा रही है। साथ ही, पुलिस को पीएम रिपोर्ट का इंतजार है। वहीं, रीवा पुलिस से भी जानकारी मांगी जा रही है। हालांकि, शहडोल के एएसपी मुकेश बैस ने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया है।

कॉन्स्टेबल से एसआई बने थे

हीरा सिंह मूलत: अनूपपुर जिले के खमरिया गांव के रहने वाले थे। वे कई सालों तक शहडोल में आरक्षक रहे, लेकिन सब इंस्पेक्टर में चयनित होने पर के बाद रीवा जिले में पदस्थ कर दिया गया। बच्चों की पढ़ाई डिस्टर्ब नहीं हो, इसलिए शहडोल में किराए का मकान लेकर पत्नी की देख रेख में बच्चों को छोड़े हुए थे।

Powered by Blogger.