MP में शादी के लिए गाइडलाइन जारी : 300 मेहमान हो सकेंगे शामिल, SDM से परमिशन लेना जरूरी, विवाह मुहूर्त तिथियां पर एक नजर

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

MP में देवउठनी एकादशी से विवाह की शहनाइयां गूंजने लगेंगी। कई जोड़े देवउठनी एकादशी के अबूझ मुहूर्त में विवाह सूत्र में बंधेंगे, तो कई नवंबर-दिसंबर के 16 मुहूर्त में शादी करेंगे। मध्यप्रदेश सरकार ने भी शादी में शामिल होने वाले घराती-बराती की संख्या में छूट दी है। शादी में अब 300 मेहमान शामिल हो सकते हैं। कोरोना काल के डेढ़ साल में पहली बार इतनी छूट मिली है। वहीं, बारात भी निकाली जा सकेगी। हालांकि, शादी और बारात को लेकर संबंधित SDM (अनुविभागीय अधिकारी) से परमिशन जरूरी होगी।

इस साल अप्रैल में कोरोना कर्फ्यू के चलते शादियां नहीं हो सकी थीं। सरकार ने कई दिनों तक मैरिज गार्डन बंद रखे थे। काफी मांग के बाद जब मैरिज गार्डन, हॉल या धर्मशालाएं खुलीं तो मेहमानों की संख्या 50 थी। बाद में यह 100 कर दी गई। 6 अक्टूबर को गृह विभाग ने नई गाइडलाइन जारी करते हुए शादी में मेहमानों की संख्या बढ़ाकर 300 कर दी।

नाइट कर्फ्यू का पालन जरूरी

मैरिज गार्डन संचालकों की मानें, तो मेहमानों की संख्या बढ़ाने के साथ सरकार ने बारात निकालने पर भी मंजूरी दी है, लेकिन शादी और बारात की संबंधित क्षेत्र के SDM से परमिशन लेना जरूरी रहेगा। DJ भी रात 10 बजे तक ही बजाया जा सकेगा। रात 11 से सुबह 6 बजे के बीच लागू नाइट कर्फ्यू का पालन जरूरी होगा। सरकार ने अभी नाइट कर्फ्यू नहीं हटाया है।

कोरोना से बचाव के करने होंगे उपाय

शादी में कोरोना से बचाव के सारे उपाय भी करना होंगे। इनमें सोशल डिस्टेंसिंग रखनी होगी तो मास्क भी पहनकर रखना होगा।

भोपाल में 3 हजार जोड़े दाम्पत्य सूत्र में बंधेंगे

भोपाल टेंट-लाइट, कैटर्स एसोसिएशन के चेयरमैन रिंकू भटेजा ने बताया कि देवउठनी एकादशी से ही शादियां शुरू हो जाएंगी, लेकिन 15 नवंबर से 13 दिसंबर के बीच लगातार 16 मुहूर्त है। करीब 3 हजार जोड़े दाम्पत्य सूत्र में बंधेंगे।

जनवरी में भी बुकिंग

13 दिसंबर के बाद मलमास लग जाएगा। ऐसे में विवाह आयोजन नहीं होंगे। इसलिए लोगों ने मकर संक्राति के बाद 15 जनवरी से भी मैरिज गार्डन की बुकिंग अभी से करा दी है। भोपाल मैरिज गार्डन ओनर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष हरीश पस्तारिया ने बताया, राजधानी में 170 से अधिक मैरिज गार्डन है। लगभग सभी की बुक है।

विवाह मुहूर्त तिथियां एक नजर में

नवंबर: 15, 19, 20, 21, 26, 28, 29 और 30

दिसंबर: 1, 2, 6, 8, 9, 11, 12 और 13

Powered by Blogger.