REWA : सामूहिक दुष्कर्म का खुलासा : अपनी नाबालिग गर्लफ्रेंड को रात में जर्जर मकान में बुलाकर फिर दो साथियों साथ मिलकर बारी-बारी से किया गैंगरेप, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा शहर के सिटी कोतवाली थाना अंतर्गत रहने वाली किशोरी से गैंगरेप करने वाले मुख्य आरोपी को पुलिस ने पकड़ लिया है। सूत्रों की मानें तो 16 वर्षीय बालिका को दोस्त ने बहला फुसलाकर रात में मिलने के लिए बुलाया था। झांसे में आकर जब पीड़िता पहुंच गई तो दो दिनों तक एक सूनसान मकान में बंधक बनाकर रखा। साथ ही अपने दो साथियों को बुला लिया।

जहां तीन लोगों ने बारी-बारी से गैंगरेप ​किया। तीसरे दिन आरोपियों के चंगुल से छूटी पीड़िता घर पहुंची। जहां ​परिजनों को आप बीती बताई। हालांकि पीड़िता के लापता होने की शिकायत थाने में दर्ज थी। ऐसे में पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर मेडिकल चेकअप कराया था। इधर सोमवार की शाम मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

6 नवंबर को दर्ज हुई थी गुमशुदगी

निरीक्षक आदित्य प्रताप सिंह ने बताया कि 5 नवंबर की रात्रि सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र से अचानक किशोरी घर से लापता हो गई थी। ऐसे में दूसरे दिन परिजनों की रिपोर्ट पर 6 नवंबर को अज्ञात आरोपी के विरुद्ध अपराध क्रमांक 791/2021 धारा 363 IPC का प्रकरण दर्ज किया था। साथ ही नाबालिग बालिका की तलाश की जा रही थी।

तभी तीसरे दिन पता चला कि अमहिया थाना अंतर्गत बड़ी दरगाह के पीछे हर्दी हाउस नामक जर्जर मकान से पीड़िता आरोपियों के चंगुल से छूटकर भागी है। जिसे पड़ोस में रहने वाले लोगों ने अपने पास रखा हुआ है। सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंचकर बालिका को दस्तयाब कर थाने लेकर पहुंची।

पूछताछ में निकली सामूहिक दुष्कर्म की कहानी

किशोरी ने बताया कि विक्की उर्फ शाहरुख अंसारी पुत्र शहीद अंसारी (23) निवासी वार्ड क्रमांक 17 अमहिया थाना बहला फुसलाकर अपने पास बुलाया था। उसकी बातों में आकर चुपके से रात्रि में चली गई। जहां से आरोपी अपने साथ किशोरी को लेकर बड़ी दरगाह के पीछे जर्जर मकान में ले गया। वहां दो दिनों तक अपने पास रखे रहा। लेकिन 7 नवंबर की रात्रि आरोपी विक्की के दो अन्य साथी भी आ गए। जहां तीनों ने डरा धमकाकर गैंगरेप किया। जब आरोपी सो गए तो चुपके से भाग निकली।

पास के घर में जाकर सारी घटना बताई

पीड़िता के मानें तो आरोपियों के चंगुल से आजाद होकर निकली तो पास में एक घर दिखा। जहां पहुंचकर अपने साथ हुई सारी घटना बताई। जिसके बाद उस घर के जिम्मेदारों ने सिटी कोतवाली पुलिस को सूचना देकर मौके पर बुलाया। सनसनीखेज वारदात को गंभीरता से लेते हुए सिटी कोतवाली पुलिस ने धारा 366, 366(क), 376(2)(N) IPC 5(g)/6 लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 धारा बढ़ाई। इसके बाद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही थी।

घर से गिरफ्तार हुआ आरोपी

पुलिस को मुखबिर ने बताया कि आरोपी विक्की उर्फ शाहरुख अंसारी के अमहिया मोहल्ला अपने घर तरफ आने वाला है। ऐसे में सिटी कोतवाली थाना प्रभारी ने घेराबंदी कर आरोपी को घर से गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद थाने ले जाकर घटना के संबंध में पूछताछ की जा रही है। साथ ही आरोपी का मेडिकल परीक्षण उपरान्त न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है।

Powered by Blogger.