MP : खाद की कालाबाजारी पर बड़ी कार्यवाही : प्रदेश भर के किसान परेशान, छतरपुर में पांच विक्रेताओं के लाइसेंस निरस्त, कई व्यापारियों को पकड़ा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

भोपाल. प्रदेश भर में खाद को लेकर किसान परेशान हो रहे हैं. ऐसे में प्रदेश सरकार सख्ती पर उतर आई है. सरकार ने प्रदेश भर में खाद बेचने में गड़बड़ी करनेवालों पर कार्रवाई की है. मुरैना में डीएपी से भरी गाड़ी जब्त की गई है जबकि छतरपुर में पांच विक्रेताओं के लाइसेंस निरस्त कर दिए गए हैं. इधर सीएम शिवराजसिंह चौहान ने अफसरों को फटकार लगाते हुए किसानों को पर्याप्त खाद देने को कहा है.

पहले हो चुकी थी एफआइआर

छतरपुर जिले में सटई में रोहित नायक, संतोष पटेल सरवई व दिलीप कुमार अग्रवाल, अशोक गुप्ता और शंकरलाल गुप्ता राजनगर उर्वरक विक्रेताओं द्वारा उर्वरक वितरण में अनियमितताएं करते पाई गईं. अवैध रूप से खाद का विक्रय और अधिक कीमत पर खाद बेचना पाया गया. इस पर लाइसेंस निरस्त किए गए हैं. इन मामलों में एफआइआर पहले ही दर्ज की जा चुकी है.

मुरैना में कृषि मंडी परिसर से पुलिस ने डीएपी खाद से भरे लोडिंग वाहन से 40 कट्टे जब्त किए. जीवाजीगंज के खाद व्यापारी सहित तीन को गिरफ्तार किया गया है. यह व्यापारी मुरैना से राजस्थान ले जाकर खाद की कालाबाजारी कर रहा था. पुलिस ने राकेश कुशवाह, नवल सिंह कुशवाह निवासी जिला धौलपुर (राजस्थान), मोनू उर्फ मनमोहन अग्रवाल निवासी मुरैना को गिरफ्तार किया है.

खाद वितरण में नहीं चलेगी लापरवाही

मुख्यमंत्री शिवराज ने खाद की स्थिति की समीक्षा में कुछ जिलों में लापरवाही व अव्यवस्था पर नाराजगी जाहिर की. कहा कि प्रदेश में पर्याप्त खाद है. वितरण में लापरवाही नहीं चलेगी. खाद में अव्यवस्था वाले जिलों में दमोह, छतरपुर, गुना जिले और बीना क्षेत्र शामिल है. यहां खाद के वितरण में आगे कोई कोताही न होने के निर्देश दिए गए.

Powered by Blogger.