MP : सनसनीखेज मामला : साले ने जीजा का गला घोट कर कुएं में फेंका शव, भाई ने कहा मंगलसूत्र उतार दे : साला और दोस्त हुए गिरफ्तार

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

बैतूल में दोस्त के साथ मिलकर जीजा की हत्या करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां आरोपी ने पहले अपने जीजा की लात-घूंसों से पिटाई की। इसके बाद गमछे से गला घोंटकर उसे 45 फीट गहरे कुएं में फेंक दिया। जीजा की हत्या करने के बाद वह घर पहुंचा और अपनी बहन से कहा- मैंने तेरे पति को मार दिया है। यह मंगलसूत्र उतार दे और दूसरी शादी कर ले। उसने पुलिस को बताया कि जीजा ने उसकी बहन को पीटा था, जिससे वह नाराज था।

पत्नी ने लिखाई थी गुमशुदगी

एसडीओपी नम्रता सोंधिया ने बताया कि 6 नवंबर को मृतक की पत्नी सरिता निवासी खांडे पिपरिया गांव ने बोरदेही पुलिस को पति सोनू गाठे की गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। सरिता ने बताया कि तमिलनाडु में काम करने वाला पति दिवाली पर गांव आया था। मैं मायके में हूं, इसलिए उसने 4 नवंबर को फोन कर मिलने आने का कहा था।

पति को आमला तक लेने मेरा भाई छन्नू उर्फ मोहन इरपाचे अपने दोस्त अर्जुन सिलुकर के साथ गया था। शाम को वे बिना उसे लिए ही लौट आए। मैंने पूछा तो उसने कहा- वह मिला था, लेकिन साथ नहीं आया। बहन के इस बयान पर पुलिस को भाई पर शंका हुई। उन्हें तत्काल हिरासत में ले लिया गया।

गला घोंटा, कुएं में फेंका

सख्ती से पूछताछ की तो मृतक के साले छन्नु उर्फ मोहन इरपाचे ने बताया कि उसका बहनोई सोनू गाठे उसकी बहन सरिता के साथ बेहरमी से मारपीट करता था। चार महीने पहले उसने मारपीट की और काम करने तमिलनाडु की ओर भाग गया। बहन अपने दो बच्चों के साथ अपना किसी तरह पेट पाल रही थी। वह उन्हें भरण-पोषण के लिए रुपए भी नहीं देता था। इसी का गुस्सा मेरे भीतर था। उस दिन जब बहन ने उसके आने का बताया तो मैंने उसकी हत्या की प्लानिंग कर डाली।

अपने दोस्त अर्जुन के साथ उसे लेने आमला गया। यहां से उसे बाइक पर बिठाया और धौंसरा गांव में दयाशंकर सोनपुरे के खेत के पास ले गए। यहां रपटे के पास गिराकर उसे ताल-घूसों से पीटा। इसके बाद उसका गमछे से गला घोंट दिया। मौत होने पर उसकी लाश को गणपत पवार के कुएं में फेंककर गांव लौट आए। आरोपी के बताने पर पुलिस ने करीब 45 फीट गहरे कुएं से सोनू का शव बरामद किया।

बहन को बोला उतार दे मंगलसूत्र

जीजा की हत्या करने के बाद भाई अपनी बहन सरिता के पास गया था। उसने बहन को कहा था कि मैंने तेरे पति को मार दिया है। यह मंगलसूत्र उतार दे और दूसरी शादी कर ले। लेकिन बहन को लगा कि वह जीजा से नाराज है, इसलिए ऐसा बोल रहा है। बहन सरिता ने बताया कि पति की हत्या के बाद वह चिल्ला-चिल्लाकर बोल रहा था कि मैंने तेरे पति को मार डाला- मार डाला। अर्जुन से पूछा तो उसने बताया कि तेरे पति ने किश्त पर गाड़ी ली थी। इसी गुस्से में आकर हत्या की है।

भैय्या बोल रहा था कि कहीं मत जा, अर्जुन के साथ शादी कर लेना। जो भी रुपए होंगे, वो मुझे देना गाड़ी खरीदने के लिए। मेरी शादी बोरदही में हुई थी। वो तमिलनाडु में काम करने गए तो मैं चार महीने पहले ही मायके आ गई थी। 30 तारीख को ही लौटे थे। सोमवार को कॉल कर कहा था कि बच्चे और तुम्हारे लिए कपड़े खरीदें हैं। लेने हा जाऊं क्या, मैंने कहा था कि तुम मत आओ, मैं आ जाऊंगी। इसके बाद भाई उसे आमला लेने गए और फिर उसकी हत्या कर दी।

Powered by Blogger.