REWA : फर्जी लाइफ लाइन पैथालॉजी लैब हुआ सील : नोटिस जारी

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीएल मिश्रा ने बताया कि विगत दिवस जिले के नर्सिंग होम निरीक्षण कमेटी एवं नयाब तहसीलदार हुजूर द्वारा लाइफ पैथालाजी लैब का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान लाइफ लाइन पैथालाजी लैब संचालक कौशिक पटेल बिना विभागीय पंजीयन एवं बिना पैथालाजिस्ट के लैब का संचालन कर रहा था। उसके पास वैध दस्तावेज नही पाये गये है। संस्था में नर्सिंग कालेज की छात्रा के द्वारा सेम्पलिंग का कार्य किया जा रहा था। संस्था में बायो मेडिकल बेस्ट का निष्पादन सही नही पाया गया। निरीक्षण के दौरान निरीक्षण दल को वैध दस्तावेज उपलब्ध न कराये जाने के कारण एवं उपरोक्त पाई गई कमियों के कारण संस्था को सील कर दिया गया है एवं नोटिस जारी की जा रही है। जिला स्तरीय निरीक्षण दल में डॉ. बीएल मिश्रा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, डॉ. एनएन मिश्रा जिला स्वास्थ्य अधिकारी, डॉ. ज्ञानेश मिश्रा जिला स्वास्थ्य अधिकारी एवं यतीश शुक्ला नायब तहसीलदार हुजूर द्वारा संयुक्त कार्यवाही करते हुये संस्था को अग्रिम आदेश तक सील कर दिया गया है।

कारण बताओ नोटिस जारी 

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बीएल मिश्रा ने बताया कि विगत दिवस शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र रतहरा का दोपहर 2 बजे आकस्मिक निरीक्षण/भ्रमण किया गया। भ्रमण के दौरान सपोर्ट स्टाफ मनोज कुमार त्रिपाठी अपनी डियूटी से अनुपस्थित पाये गये। म.प्र. शासन की महत्वपूर्ण योजना कोविड-19 टीकाकरण का महाअभियान कार्यक्रम चल रहा है। जिसमें महत्वपूर्ण कार्य होते हुये भी अपने कर्तव्य स्थल से अनुपस्थित रहे। अतः श्री त्रिपाठी की वार्षिक वेतनवृद्घि असंचयी प्रभाव से रोकने हेतु कारण बताओ नोटिस जारी की गयी है। कारण बताओ नोटिस का जबाव पत्र प्राप्ति के 3 दिवस के अंदर अधोहस्ताक्षरकर्ता के समक्ष स्वयं उपस्थित होकर प्रस्तुत करने के निर्देश दिये गये है।

Powered by Blogger.