REWA : नशे की हालत में अधीक्षण यंत्री ने कार्यालय में हंगामा कर कर्मचारियों के साथ की गाली-गलौज : वीडियो वायरल

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा। नशे की हालत में अधीक्षण यंत्री द्वारा कार्यालय में हंगामा कर कर्मचारियों के साथ गाली-गलौज का वीडियो वायरल होने की घटना के बाद रविवार को कर्मचारियों ने कार्यालय में बैठकर प्रदर्शन किया। एक दिन पूर्व उन्होंने नशे की हालत में कर्मचारियों के साथ विवाद किया था जिसको लेकर अब कर्मचारियों ने मोर्चा खोल दिया है।

अभद्र व्यवहार का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

बिजली विभाग के अमहिया स्थित कार्यालय में शनिवार की रात अधीक्षण यंत्री सिविल द्वारा परिसर में शराब का सेवन कर कर्मचारियों के साथ गाली-गलौज की थी। रात्रि के समय ड्यूटी करने वाले कई कर्मचारी उनकी अभद्रता का शिकार हुए। अभद्र व्यवहार का यह वीडियो रात में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया जिसको लेकर कर्मचारियों का आक्रोश फूट पड़ा। रविवार की सुबह उन्होंने कार्यालय में बैठकर अधीक्षण यंत्री सिविल के व्यवहार पर नाराजगी जताते हुए कार्रवाई की मांग की।

उग्र आंदोलन की चेतावनी

कार्रवाई न होने पर उन्होंने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है। इस दौरान तकनीकी कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अनिल मिश्रा ने बताया कि अधीक्षण यंत्री अक्सर शराब का सेवन कर कार्यालय परिसर में अभद्र व्यवहार करते है। कई बार अधीनस्थ कर्मचारी उनकी अभद्रता का शिकार हो चुके है। अभी हमने सांकेतिक हड़ताल की है ओर यदि कार्रवाई नहीं होती है तो जिले भर में आंदोलन होगा।

दिन ढलने के बाद नशाखोरी का अड्डा बन जाता है कार्यालय, 38 लाख की हो चुकी है चोरी

बिजली विभाग के आफिस में करीब दो साल पूर्व 38 लाख रुपए की चोरी हो चुकी है। बिल जमा करने वाले रुपए बदमाशों ने मशीन से पार कर दिये थे जिसके आरोपी आज तक नहीं मिले। दिन ढलने के बाद कार्यालय परिसर नशाखोरी का अड्ड बन जाता है। देर रात तक यहां नशेडिय़ों की महफिल जमी रहती है। यही कारण है कि रात में यहां पूरा कार्यालय अराजकता के आगोश में समा जाता है।

वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई जानकारी

कर्मचारी अभद्रता का आरोप लगाकर धरना दे रहे है। एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था जिसमें अधीक्षण यंत्री सिविल के द्वारा अभद्र भाषा का इस्तमाल करते दिखाया गया है। यह हमारे संज्ञा में आया है जिसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दे दी गई है।

संजय सिंह, कार्यपालन यंत्री शहर संभाग

Powered by Blogger.