Platoon Commander के बेटे की चाकू से गोदकर हत्या : शराब के नशे में धुत होकर चार आरोपियों ने दिया था वारदात को अंजाम, गिरफ्तार

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

छठवीं बटालियन परिसर स्थित पीटीएस में पदस्थ प्लाटून कमांडर के बेटे की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई। आरोप चार लोगों पर है। रविवार रात 11 बजे आरोपियों ने SAF पेट्रोल पंप के सामने हत्या की। रांझी पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

रांझी पुलिस के मुताबिक पीटीएस में प्लाटून कमांडर नारायण बहादुर थापा का बेटा रोहित थापा (30) रविवार रात गांधी व्यायामशाला के लिए निकला था। पेट्रोल पंप के सामने मामा किराना स्टोर के पास रात करीब 11 बजे उसे संजय थापा, अभिषेक बहादुर, मनीष और सोनू ने रोका। चारों शराब के नशे में धुत थे। चारों ने रोहित गाली-गलौज करने लगे। विरोध करने पर ने उस पर चायना चाकू से जांघ के पास वार कर दिया। जांघ की मुख्य नस कटने की वजह से हुए अधिक खून बहने से उसकी हालत बिगड़ती चली गई।

भाई को दी वारदात की सूचना

आरोपियों के फरार होने के बाद रोहित ने छोटे भाई सुमित थापा को कॉल कर सूचना दी। सुमित मौके पर पहुंचा और दोस्तों की मदद से उसे अस्पताल पहुंचाया। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। उसकी मौत की वजह अधिक रक्तस्राव बताया जा रहा है। मौत से पहले आरोपियों के नाम रोहित ने भाई सुमित को बताए थे।

पुलिस परिवार से जुड़े हैं आरोपी

हत्या करने वाले आरोपी भी पुलिस परिवार से जुड़े हैं। चारों आरोपियों में से संजय थापा के पिता स्व. सुरेश थापा आमी र्से रिटायर थे। वहीं, अभिषेक के पिता अमर बहादुर एसएएफ में प्रधान आरक्षक हैं। मनीष सोनी के पिता कृष्ण बहादुर सिंह एसआई हैं, जबकि सोनू पांडे के पिता राधेश्याम पांडे एसएएफ से रिटायर हैं। पुलिस ने चारों को दबोच लिया है।

3 नवंबर को हुआ था विवाद

प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि संजय के भाई सनी थापा का दो युवकों से 3 नवंबर को विवाद हुआ था। दोनों युवकों ने उसके साथ मारपीट कर दी थी। संजय को संदेह था कि रोहित ने ही उन दो युवकों को भेजा था। इसी बात की रंजिश में रविवार की रात विवाद हुआ था।

Powered by Blogger.