DELHI POLLUTION : राजधानी दिल्ली की हवा दिवाली के बाद से जहरीली : कोरोना से ठीक हुए लोगों के लिए बेहद खतरनाक है ये हवा, जानिए विशेषज्ञों ने क्या कहा ....

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली की हवा दिवाली के बाद से जहरीली बनी हुई है। हालांकि इसमें मामूली सुधार जरूर हुआ है, लेकिन स्थिति अभी भी चिंताजनक है। दिल्‍ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 338 दर्ज किया गया है। वहीं एनसीआर के इलाकों जैसे गुरुग्राम, फरीदाबाद, गाजियाबाद और नोएडा में एक्‍यूआई 301, 312, 368 और 357 है। हाल ही में दिल्ली की खराब हवा को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने टिप्पणी की थी, वहीं अब विशेषज्ञों ने दिल्ली की हवा का कोरोना से ठीक हुए लोगों की सेहत पर पड़ने वाले प्रभाव को लेकर चिंता जताई है।

डॉ. बोले मेरा दम घुट रहा है

मेदांता अस्पताल में चेस्ट सर्जरी संस्थान के चेयरमैन डॉ. अरविंद कुमार का कहना है कि दिल्ली की हवा इन दिनों बेहद जहरीली है। उन्होंने बताया कि मुझे सांस की कोई समस्या नहीं है, इसके बावजूद घर से बाहर निकलने पर मेरा दम घुट रहा है। ऐसे में सांस की बीमारी से जूझ रहे लोगों की परेशानी की मैं कल्पना कर सकता हूं। डॉ. अरविंद कुमार ने कहा कि दिल्ली की हवा कोरोना से स्वस्थ्य हो चुके लोगों को बुरी तरह से प्रभावित कर सकती है।

कोविड से उबरे लोगों को अधिक खतरा

उन्होंने कहा कि वायु प्रदूषण उन लोगों के लिए गंभीर जटिलता पैदा कर सकता है जो COVID-19 से उबर चुके हैं। दिल्ली और आस-पास के इलाको में बड़ी संख्या में लोग कोरोना महामारी से ठीक हुए हैं, लेकिन अगर ये लोग इस तरह की खराब हवा के संपर्क में रहेंगे तो समस्या फिर बढ़ सकती है। डॉ. अरविंद कुमार का कहना है कि इससे उनके फेफड़े गंभीर जटिलताओं की चपेट में आ जाएंगे। ऐसे में हवा की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए हर संभव उपाय करना समय की मांग है।

मास्क से मिलेगी सुरक्षा

वहीं एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया भी इस बात ये सहमत हैं कि प्रदूषित हवा कोरोना से उबरे लोगों की समस्या बढ़ा सकती है। यही नहीं प्रदूषण से कोविड-19 के और भी गंभीर मामले सामने आ सकते हैं। ऐसे में लोगों को मास्क जरूर पहनना चाहिए, यह कोरोना संक्रमण और प्रदूषण दोनों से सुरक्षा में मदद करेगा।

गौरतलब है कि दिल्ली की खराब हवा के चलते मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राज्य के सभी स्कूल को एक सप्ताह के लिए बंद कर दिया है। इस दौरान ऑनलाइन क्लास के जरिए पढ़ाई जारी रहेगी। वहीं सरकारी ऑफिर भी एक हफ्ते तक बंद रहेंगे और कर्मचारी घर से काम करेंगे। इसके साथ ही दिल्ली सरकार ने 14 से 17 नंवबर तक निर्माण कार्यों पर भी रोक लगाई है।

Powered by Blogger.