बस और ट्रेलर की जबरदस्त भिड़ंत : रॉन्ग साइड से आ रहा ट्रेलर बस से भिड़ा, दोनों वाहनो में आग लगने से 12 लोग जिंदा जले जबकि 13 घायलों को अस्पताल रेफर किया

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

राजस्थान के बाड़मेर जिले के जोधपुर नेशनल हाईवे पर बुधवार को बस और ट्रेलर की जबरदस्त भिड़ंत हो गई । भांडियावास गांव में संस्कार स्कूल के पास हुई आमने - सामने की टक्कर के बाद बस और ट्रेलर में आग लग गई । इसमें 12 लोग जिंदा जल गए । शुरुआत में 5 लोगों की मौत की खबर आई , लेकिन बाद में जिले के एसपी ने 7 और मौतों की पुष्टि की , जिसमें एक बच्ची भी है। 40 घायलों को पास के नाहटा राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया गया , जिनमें से गंभीर 13 को जोधपुर रेफर कर दिया गया । सूचना के बाद पचपदरा , बालोतरा और रिफाइनरी की फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंचीं । तीन दमकलों ने आधे घंटे में दोनों वाहनों में लगी आग पर काबू पाया । पचपदरा विधायक मदन प्रजापत ने जानकारी दी कि बस में सवार तीन लोग तमिलनाडु , दो बीकानेर और अन्यत्र के हैं । अभी तक सभी की पूरी पहचान नहीं हो पाई है । यह बस सवेरे बालोतरा से रवाना हुई थी और जोधपुर जा रही थी।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार रॉन्ग साइड से आया ट्रेलर बस से भिड़ा, जिसके बाद दोनों वाहनो में आग लग गयी। आग की चपेट मे आने से सवारियों को बाहर निकलने का अवसर नहीं मिला और देखते ही देखते आग के विकराल रूप ने कई सवारियों को अपनी चपेट मे ले लिया।हालांकि लोगो ने बस के कांच फोड़ कर सवारियों को बचाने का प्रयास किया। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे साथ ही ग्रामीणों की मदद से जाम को खुलवाया गया और मुख्य मार्ग पर आवागमन सुचारू किया गया है।

घटना की जानकारी मिलने के बाद जहां पचपदरा थानाधिकारी प्रदीप डांगा मौके पर पहुंच गए , तो एसपी दीपक भार्गव और जिला कलेक्टर लोकबंधु भी घटनास्थल पर मौजूद रहे । सम्भागीय आयुक्त डॉ . राजेश शर्मा , प्रभारी मंत्री सुखराम विश्नोई , पचपदरा एमएलए मदन प्रजापत भी मौके पर पहुंचे ।

शवो को शिनाख्त के लिए भेजा गया है जोधपुर

आग में पूरी तरह से जल जाने के कारण शवो की शिनाख्त नहीं हो पाई है। जोधपुर में डीएनए जांच के बाद शवों की शिनाख्त होगी। इसके लिए शवो को जोधपुर के एमडीएम अस्पताल भिजवाया गया है।

मुख्यमंत्री ने जानी वस्तु स्थिति, आर्थिक मदद की घोषणा

मुख्यमंत्री ने राहत - बचाव के लिए पुलिस प्रशासन को निर्देश दिए हैं। घटना के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पुलिस और प्रशासन को राहत बचाव में मुस्तैद रहने का निर्देश दिया है । मुख्यमंत्री अभी दिल्ली है उन्होंने बाड़मेर जिला कलेक्टर और एसपी से फोन पर बातचीत की है जहां इस पूरे घटनाक्रम को जानकर घायलों के इलाज के लिए बेहतर चिकित्सा प्रबंधन के निर्देश जारी किया। मुख्यमंत्री ने मृतकों के आश्रितों को पांच-पांच लाख रुपए की आरती सहायता की घोषणा की है।

प्रधानमंत्री ने जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हादसे पर दुख जताया है । प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर शोक संतृप्त परिवारों के प्रति सवेंदना जताई है। मोदी ने हादसे में जान गंवाने वाले परिजनों को 2 लाख व घायलों को 50-50 हजार रुपए देने की घोषणा की ।

Powered by Blogger.