MP : चलती ट्रेन पर चढ़ने की कोशिश पर युवक का फिसला पैर : ट्रेन के नीचे आने से एक पैर कटा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

भोपाल। भोपाल रेलवे स्टेशन पर चलती ट्रेन में चढ़ने की कोशिश में एक यात्री का पैर फिसल गया। इससे वह ट्रेन के नीचे आ गया और इस घटना में उसका एक पैर धड़ से अलग हो गया। गनीमत रही कि यह घटना ट्रेन के पिछले डिब्बे में झंडी दिखा रहे गार्ड ने देख ली और तुरंत ट्रेन रुकवाई। इस दौरान रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स (आरपीएफ) के जवान प्लेटफार्म पर मौजूद थे। उन्होंने तुरंत यात्री को उठाया और उसे अस्‍पताल भिजवाया। इससे उसकी जान बच गई। घटना बुधवार कामायनी एक्सप्रेस । 01072। में हुई। जख्मी याात्री को इलाज के लिए हमीदिया अस्पताल भिजवाया गया है। घटना के कारण ट्रेन 35 मिनट तक लेट हुई।

कामायनी एक्सप्रेस बुधवार सुबह 8.15 बजे भोपाल रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म-एक पर आकर रुकी थी। इसी दौरान कुछ यात्री प्‍लेटफार्म पर नाश्ता, पानी व खाना लेने उतरे थे। ट्रेन दस मिनट का ठहराव लेकर चलने लगी। इस दौरान दौड़ते-भागते हुए कई यात्री चढ़ने लगे। इसी में एक यात्री राम विजय पांडे थे। भीड़ के कारण वे जल्द चढ़ नहीं पाए थे। उन्होंने ट्रेन के जनरल कोच में चढ़ने की कोशिश की तो पैर फिसल गया और वे प्लेटफार्म व कोच के बीच से ट्रेन के नीचे ट्रैक पर आ गए। गार्ड के सिग्‍नल पर ट्रेन रोके जाने पर तुरंत प्रधान आरक्षक अमित अवस्थी, राधेश्याम यादव, आरक्षक समशेर आलम व आरपीएफ के अन्य जवान ट्रेन के नीचे घुसे। जवानों ने बताया कि यात्री राम विजय पांडे ट्रेन के पहिए से बुरी तरह लिपटा हुआ था। उन्हें निकालने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ी। तब तक आरपीएफ के एएसआई हसन खान व रेलवे के अधिकारी, कर्मचारी भी आ गए थे। सभी ने सहयोग किया और उन्हें बाहर निकाला गया। घटना में यात्री का एक पैर कट गया। सीने, सिर, हाथों में और दूसरे पैर में गंभीर चोटें आईं हैं। रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि यात्री फैजाबाद का रहने वाला है और इलाहाबाद से मनमाड़ की यात्रा कर रहा था। उसका इलाज हमीदिया अस्पताल में चल रहा है।

Powered by Blogger.