Ayodhya में दीपोत्सव का नया रिकॉर्ड : स्वर्ग की भांति दमक उठी Ayodhya, एक साथ जलाये गये 9 लाख 11 दीप : हेलीकॉप्टर से तीन राउंड हुई पुष्पवर्षा

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

अयोध्या रामनगरी में इस बार भी भव्य व दिव्य दीपोत्सव मनाया गया। दीपों की माला और लेजर शो के साथ रंग-बिरंगी अयोध्या स्वर्ग की भांति दमक उठी। रामनगरी में लगातार पांचवीं बार दीपोत्सव का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना। इस बार एक साथ 9 लाख 11 दीप जलाये गये। राम की पैड़ी के 32 घाटों पर 40 मिनट में सभी दीप प्रज्ज्वलित हुए, जो लगातार पांच मिनट तक जलते रहे। पिछली बार एक साथ 5 लाख 51 हजार दीप जलने का रिकॉर्ड बना था। इससे पहले 2017 में लगभग 01 लाख 80 हजार, 2018 में 3,01,152, व 2019 में 5,50,000, और 2020 में 5,51000 हजार दीप जलाने का विश्व रिकॉर्ड बना था।

सीएम योगी ने प्रभु राम का किया राज तिलक

रामनगरी के पांचवें दीपोत्सव पर त्रेतायुग जीवंत हो उठा। रामकथा पार्क में जैसे ही हेलीकाप्टर (पुष्पक विमान) से भगवान राम, मां सीता और शेषावतार लक्ष्मण उतरे तो खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी ने अपने कैबिनेट के सहयोगियों के साथ भगवान के स्वरूप की अगवानी की। इस दौरान हेलीकॉप्टर से तीन राउंड पुष्पवर्षा हुई तो जय जय श्रीराम के नारों से अयोध्या गुंजायमान हो उठी।

1200 कलाकारों ने दी प्रस्तुति

दीपोत्सव में उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, हरियाणा, झारखंड, नोएडा, झांसी, नागपुर, पंजाब आदि राज्यों के करीब 1200 कलाकारों ने प्रस्तुति दी। जयपुर का कालबेलिया नृत्य, पंजाब का भांगड़ा, बांदा का पाई डंडा, मथुरा का बम रसिया, झांसी का राई, सोनभद्र के मादल वादन के जरिये लोक संस्कृति की समृद्धि की झलक दिखी। हरियाणवी नृत्य, झारखंड का छाऊ नृत्य ने झांकियों को और भव्य कर दिया।

Powered by Blogger.