MP : शिवराज की BJP नेताओं को सलाह : अब बनेगी ट्रांस्पेरेंट पॉलिसी; विधायक ट्रांसफर की सिफारिश या शिकायत लेकर आते है तो न मास्टर बचेंगे ना ही अस्पतालों में डाॅक्टर

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भाजपा नेताओं खासकर विधायकों व अन्य जनप्रतिनिधियों को नसीहत दी है। प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में उन्होंने कहा कि विधायकों से एक शिकायत है। अधिकतर विधायक ट्रांसफर कराने की सिफारिश करते हैं, या फिर शिकायत लेकर आते हैं। यदि सबकी बात मान लें, तो स्कूलों में न तो मास्टर बचेंगे और ना ही अस्पतालों में डाॅक्टर। भाजपा के साथ कांग्रेस वाले भी ट्रांसफर करा लेते हैं। कई विधायक तो इतने तेज हैं, वे कांग्रेस की सरकार में भी ट्रांसफर करा लेते थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब सरकार ट्रांसफर के लिए ट्रांस्पेरेंट पॉलिसी बनाएगी। इसके तहत ही ट्रांसफर होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मीडिया महत्वपूर्ण है, लेकिन बात सावधानी से करें। जरा, इधर का उधर निकला.. निकला भी या नहीं निकला..पता चला कि अपने आप निकल गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के उद्बोधन से पहले प्रदेश प्रभारी पी मुरलीधर ने पदाधिकारियों को कहा- एक बात समझ लीजिए.. मीडिया हमारा मित्र नहीं है। उन्होंने कहा कि मेरा एक बयान तोड़-मरोड़कर जनता के सामने पेश किया गया।

शिवराज की BJP नेताओं को सलाह

मुख्यमंत्री ने भाजपा नेताओं को सलाह भी दी है। उन्होंने कहा- एक बार टिकट नहीं मिला, तो 5 साल जाते देर नहीं लगती, इसलिए धैर्य रखो। उन्होंने यह भी कहा कि राजनीति में सकारात्मकता बनाए रखें, क्योंकि भाग्य से ज्यादा कभी कुछ नहीं मिलता।

कांग्रेस में झूठ बोलने की स्पर्धा

शिवराज ने कहा कि कांग्रेस में झूठ बोलने की स्पर्धा है। एक-दूसरे से आगे बढ़कर झूठ बोलते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनजातीय गौरव दिवस की शुरुआत कर जननायकों को सम्मान दिया, तो कांग्रेस ने जबलपुर में कार्यक्रम किया। क्या हाल हुआ, सब जानते हैं। भोपाल में जनजातीय गौरव दिवस हो रहा है, तो चलो जबलपुर। जबलपुर पहुंच तो गए, लेकिन कुर्सियां खाली रह गईं। फिर जो कुछ हुआ, मुझे बताने की जरूरत नहीं।

उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा- आज बैठक में भाजपा के जितने भी बैटिंग करने आए, चौके-छक्के लगाकर गए। कांग्रेस में तो एक ही आदमी बैटिंग करता है, वह भी ऊटपटांग करता है। हमको गाली देने वालो, भाजपा के कार्यकर्ताओं की सेवा के काम देखो। कोरोना काल में कई लोगों की जिंदगी बचाने का काम भाजपा के कार्यकर्ताओं ने किया।

जो हमें कोसते थे, वे सड़कों पर रामधुन गा रहे

मुख्यमंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पर निशाना साधते हुए कहा- जो पानी पी-पी के कोसते थे हमें, वो आज सड़कों पर रामधुन गा रहे हैं। शिवराज यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा कि कमलनाथ हनुमान चालीसा का पाठ कर रहे हैं। संकट कटे मिटे सब पीरा जो सुमरे हनुमत बलवीरा। राहुल गांधी त्रिपुंड लगा रहे हैं, ये एजेंडा बदल के रख दिया भारतीय जनता पार्टी ने हिंदुस्तान की राजनीति का। राम के बिना पार नहीं। देश की राजनीति में यह ऐतिहासिक परिवर्तन हुआ है।

Powered by Blogger.