MP : कोरोना काल में नौकरी चली गई तो मॉडलिंग की फर्जी कंपनी बनाकर मॉडल युवतियों के बोल्ड फोटो खींचकर करने लगा ब्लैकमेल : साइबर सेल पुलिस ने किया गिरफ्तार

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

कोरोना काल में नौकरी छूटने के बाद मॉडलिंग की फर्जी कंपनी बनाकर उभरती मॉडल्स के साथ धोखाधड़ी करने वाले बदमाश को साइबर सेल पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी नई मॉडल्स को बड़े प्लेटफॉर्म पर मॉडलिंग में चांस देने के नाम पर उनके बोल्ड फोटो शूट करता था। बाद में उन्हें वायरल करने की धमकी देकर रुपए वसूलता था।

एसपी जितेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपी विग्नेश शेट्‌टी (24)घोरपड़ी, पुणे का रहने वाला है। इसके खिलाफ इंदौर की 22 वर्षीय युवती ने शिकायत की थी। आरोपी ने उससे 10 हजार रुपए मांगे थे। आरोपी ने कबूला कि कोरोना काल में बेरोजगार होने के बाद वह इस तरह का काम करने लगा।

200 से ज्यादा मॉडल्स का रजिस्ट्रेशन- जांच में पता चला है कि आरोपी विग्नेश ने गूगल की एक कंपनी के अलावा कॉल सेंटर की दो अलग-अलग कंपनियों में काम किया है। महाराष्ट्र में मॉडलिंग से जुड़े प्रोजेक्ट में होने से इसे इस फील्ड की जानकारी थी। कोरोना काल में इसकी तीन नौकरियां छूटीं। पिता का सड़क हादसे में देहांत हो गया तो आरोपी फर्जीवाड़ा करने लगा।

इसने ‘राइजिंग ब्रांड स्टार्स इन्फ्लूएंसर मॉडलिंग’ के नाम से पेज बनाया। उसमें लड़के- लड़की (उभरते मॉडल्स) को संपर्क करता था। पहले अपने पेज पर रजिस्ट्रेशन के नाम पर 500 रुपए चार्ज लेकर युवतियों को बोल्ड शूट के लिए तैयार करता था। बड़े प्लेटफॉर्म पर जाने की आस में कई उभरती मॉडल्स ने इसके संपर्क में आकर बोल्ड फोटो शूट कराए। फिर आरोपी इन्हें धमकाकर रुपयों की मांग करता था। आरोपी ने खुद के पेज के लिए कई बड़ी नामी मॉडल्स सहित 200 मॉडल्स भी मार्गदर्शक के रूप में जोड़ रखा है।


Powered by Blogger.