REWA : अजब- गजब : 20 साल पहले पति-पत्नी के बीच हुए विवाद को पुलिस ने मिनटों में सुलझाया : पढ़िए पूरी कहानी

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

रीवा जिले के लौर थाना प्रभारी ने 20 साल पहले पति-पत्नी के बीच हुए विवाद को मिनटों में सुलझा दिया गया है। पुलिस के मुताबिक वर्ष 2001 में एक पारिवारिक कार्यक्रम के दौरान पति द्वारा कई दिनों तक समय देने के कारण दंपती के बीच अनबन हो गई थी। धीरे-धीरे ये मनमुटाव बढ़ता गया। फिर कुछ दिन बाद एक ही आंगन में दोनों गैरों की भांति रहने लगे। हिस्सा बांट को लेकर पत्नी राजस्व की धारा 159 के तहत थाना प्रभारी से लेकर एसपी की चौखट तक फरियाद लेकर गई। लेकिन हर जगह निराशा मिली।

अंतत: मंगलवार की सुबह लौर थाना प्रभारी मनोज गौतम ने दंपती को बुलाकर समझाया। बुढ़ापे की याद दिलाया, तो दोनों की आंखें भर आईं। उपनिरीक्षक की बात सुनकर दंपती का दिल पिघल गया। फिर एक दूसरे के गले में फूलमाला डाली और हंसते-हंसते घर चले गए।

मिली जानकारी के मुताबिक 20 साल पहले पति रमाकांत साकेत (52) निवासी डिघवार और पत्नी सुशीला साकेत (50) के बीच जवानी में अनबन हो गई थी। उस समय बेटा और बेटी महज कुछ साल के थे, लेकिन दोनों का मनमुटाव इस तरह बढ़ा कि एक ही छत में रहने के बावजूद एक दूसरे को देखना नहीं पसंद करते थे। समय गुजरता गया, शिकायतें चलती रही। फिर भी सुशीला साकेत को न्याय नहीं मिला। सुशीला साकेत सिर्फ अधिकारियों के पास जाकर हिस्सा बांट चाहती थी।

मजदूरी कर करते थे भरण पोषण

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दोनों वर्षों से मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करते थे। वर्तमान समय में दोनों के बीच एक 22 साल का बेटा और 20 साल की बेटी है। बेटा मां की ओर रहता है, जबकि बेटी पिता के साथ रहती है। हालांकि अभी बेटा और बेटी की शादी नहीं हुई है। बीते ​कुछ सालों से बेटा बाहर के शहरों में काम करने जाता है। जहां से कमाई का हिस्सा वह अपनी मां को देता था।

वैवाहिक जीवन जीने के लिए हुए तैयार

लौर पुलिस की मानें तो पति-पत्नी के बीच लम्बे अरसे से मनमुटाव चला आ रहा था। ऐसे में दोनों एक ही घर में परायों की तरह रहते थे। उनके बीच वैवाहिक जीवन नहीं चल रहा था। दोनों अक्सर एक दूसरे को ताने देते आ रहे हैं। पत्नी घर में हिस्सा चाहती थी, जबकि पति ने मना कर दिया। इसी बात की लड़ाई दो दशकों से चल रही है। ऐसे में मंगलवार को थाना प्रभारी ने सुलझाकर दोनों के बीच सुलह करा दी।

Powered by Blogger.