REWA : अवैध संबंधों के शक में युवक की हत्या : 7 माह से फरार हत्या के 2 आरोपियों ने कोर्ट में किया सरेंडर


रीवा जिले के सिरमौर थाना अंतर्गत मरैला गांव में दीपू सिंह की दनदहाड़े हत्या करने वाले दो आरोपियों ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया था। जिनको सिरमौर पुलिस ने एक दिन की रिमांड में लिया था। रिमांड अवधि खत्म होने के बाद मंगलवार को जिला न्यायालय में पेश कर केन्द्रीय जेल रीवा भेज दिया है।

पुलिस के मुताबिक 12 मई 2021 को पांच आरोपियों ने दीपू सिंह को पीट पीटकर मार डाला था। वारदात के बाद दहशत फैलाने के लिए आरोपियों ने मृतक का शव सड़क में फेंक दिया था। तब हरकत में आई पुलिस ने तीन आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार कर लिया था। जबकि दो आरोपी 7 माह से फरार थे।

अवैध संबंधों के शक में वारदात

सिरमौर थाना प्रभारी एसएस राजपूत ने बताया कि मृतक जितेंद्र उर्फ दीपू सिंह पुत्र मोरध्वज (41) निवासी मरैला वार्ड 9 में रहता था। गांव की आदिवासी बस्ती में रहने वाले भगवानदीन साकेत को शक था कि दीपू सिंह के साथ उसकी पत्नी के अवैध संबंध हैं। इस पर भगवानदीन और उसके परिवार वालों ने उसे मारने का निश्चय किया। वह अवसर तलाश रहे थे।

12 मई की दोपहर 3 बजे भगवानदीन और उसके परिवार वालों को सूचना मिली कि दीपू सिंह बस्ती में आया है। इसके बाद भगवानदीन और साथी घर पहुंचे। यहां पहले से ही दीपू बैठा था। आरोपियों ने दीपू को बंधक बनाकर लाठी-डंडों से उसकी पिटाई की। जिससे उसकी मौत हो गई।

पांच लोगों ने मिलकर की थी हत्या

पुलिस की मानें तो दीपू सिंह हत्याकांड में पांच आरोपी शामिल थे। तब वारदात वाली रात ही आरोपी भगवानदीन साकेत, राजेन्द्र उर्फ लल्ली साकेत, जीतू उर्फ गुडडू साकेत निवासी मरैला को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। जबकि संतोष साकेत और उमेश साकेत फरार थे।

अवैध संबंधों के शक में युवक की हत्या:घर पर बंधक बनाया और लाठी-डंडों से पीट-पीट कर मार डाला, दहशत फैलाने के लिए सड़क पर फेंक दिया शव

वह सोमवार को अधिवक्ता हेमन्त चतुर्वेदी के माध्यम से जिला न्यायालय में सरेंडर किए थे। सूचना के बाद पहुंची सिरमौर पुलिस ने दोनों आरोपियों को एक दिन की रिमांड पर लिया था। पूछताछ के बाद मंगलवार को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है।

Powered by Blogger.