शुभ विवाह : नया साल 2022 विवाह योग्य युवक-युवतियों के लिए सबसे अच्छा, 30 से ज्यादा मुहूर्त, जनवरी में सिर्फ दो और मई में 10 दिन गूंजेंगी शहनाइयां

नया साल 2022 विवाह योग्य युवक-युवतियों के लिए बहुत अच्छा रहेगा। ज्योतिष पंचांगों के अनुसार नए साल में शादियों के अधिक शुभ मुहूर्त बताए गए हैं। जनवरी में सबसे कम दो विवाह के मुहूर्त हैं, जबकि मई माह में सबसे ज्यादा शादियों के लिए शुभ मुहूर्त हैं। सनातन धर्म और ज्योतिष में मलमास के दौरान विवाह सहित सभी शुभ कार्यों को वर्जित बताया गया है। हालांकि मलमास खत्म होते ही साल 2022 में एक बार फिर शादियों का दौर शुरू हो जाएगा।

साल 2022 में विवाह की तिथियां इस प्रकार हैं

ज्योतिषाचार्य नंदकिशोर शर्मा के अनुसार पिछले साल की अपेक्षा इस साल विवाह की तिथियां ज्यादा हैं। 15 दिसंबर से 15 जनवरी तक मलमास (संक्रांति) रहेगा। फरवरी के बाद शुक्र का तारा अस्त हो जाएगा, जो 18 अप्रैल तक रहेगा। 22 फरवरी से 23 मार्च तक गुरु का तारा अस्त रहेगा, इसलिए मार्च में कोई विवाह मुहूर्त नहीं हैं। 14 मार्च से 14 अप्रैल तक मलमास है।

10 जुलाई से 4 नवंबर तक रहेगा देवशयन काल

अगले वर्ष 10 जुलाई से 4 नवंबर तक देवशयन काल है। 10 सितंबर से 25 सितंबर तक श्राद्धपक्ष रहेगा। फिर पुन: शुक्र का तारा अस्त हो जाएगा। निर्णय सागर पंचांग के अनुसार विवाह की तिथियां निर्धारित की गई हैं। अगले साल विवाह की 37 तिथियां हैं।

साल के अबूझ मुहूर्त

नए वर्ष में 5 फरवरी को बसंत पंचमी, 3 मई को अक्षय तृतीया, 8 जुलाई को भड़ली नवमी पर विवाह के लिए अबूझ मुहूर्त रहेगा। इन मुहूर्त में सभी राशि के जातक विवाह कर सकते हैं। विवाह के लिए ये तिथियां सर्वाधिक शुभ मानी जाती हैं।

Powered by Blogger.