कुन्नूर हेलीकॉप्टर हादसा : रीवा घराने से ताल्लुक रखने वाले मृगेंद्र सिंह की बेटी मधुलिका से हुई थी जनरल बिपिन रावत की शादी : पढ़िए

  

तमिलनाडु में कुन्नूर के जंगलों में बुधवार दोपहर 12:20 बजे सेना का Mi-17V5 हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया। घने जंगलों में हुए इस हादसे के बाद हेलिकॉप्टर में आग लग गई। इसमें चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका समेत सेना के 14 अफसर सवार थे। हादसे की जानकारी लगते ही मप्र के शहडोल जिले में भी दुख की लहर दौड़ गई, क्योंकि रावत की पत्नी यहीं की रहने वाली हैं। हादसे के वक्त वे भी रावत के साथ हेलिकॉप्टर में सवार थीं। दोनों की हालत को लेकर अभी तक कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है। वहीं, जानकारी लगते ही मधुलिका के भाई भोपाल से दिल्ली रवाना हो गए।

चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत की ससुराल शहडोल जिले के सोहागपुर में है। उनकी पत्नी मधुलिका सिंह रियासतदार कुंवर मृगेंद्र सिंह की मंझली बेटी हैं। जानकारी के अनुसार मंगलवार काे मधुलिका ने घर बताया था कि वे दाे दिन बाहर रहेंगी। रावत की दाे बेटियां हैं। बड़ी बेटी कृतिका रावत की शादी मुंबई में हुई है। वहीं, छोटी बेटी तारिणी रावत अभी पढ़ रही हैं।

1985 में हुई थी शादी

रीवा घराने से ताल्लुक रखने वाले मृगेंद्र सिंह की बेटी मधुलिका की शादी बिपिन रावत से 1985 में हुई थी। मधुलिका के पिता कांग्रेस से सोहागपुर से 1967 और 1972 में दो बार विधायक रहे। परिवार की माने तो मधुलिका 2012 में अंतिम बाद शहडोल आई थीं। हादसे की जानकारी लगते ही मधुलिका के भाई यशवर्धन भोपाल से दिल्ली रवाना हो गए। यशवर्धन ने बातचीत में बस इतना कहा कि जो हेलिकॉप्टर कैश हुआ है उसमें दीदी और जीजाजी सवार थे। अभी ज्यादा कुछ हमें भी पता नहीं है। शहडोल वाले घर पर सिर्फ नौकर है, जो बात नहीं कर रहा है।

तीन महीने पहले आए थे दतिया

सीडीएस जनरल बिपिन रावत तीन महीने पहले दतिया आए थे। उन्होंने यहां शक्तिपीठ मां पीतांबरा के दर पर मत्था टेका। साथ ही भगवान वनखण्डेश्वर महादेव का जलाभिषेक भी किया था। जनरल रावत के पूजा एवं दर्शन के दौरान मीडिया को पूरी तरह से प्रतिबंधित किया गया था। उनका पूरा कार्यक्रम ही गोपनीय रखा गया था। रावत 6 से 7 घंटे मंदिर में रहे और अनुष्ठान किया था।

कमांडर कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लेने महू आए थे रावत

जनरल बिपिन रावत दो साल पहले इंदौर के महू में सेना की दो साल में होने वाली कमांडर कॉन्फ्रेंस में शामिल होने आए थे। उन्होंने सैन्य संग्रहालय भी पहुंचे, जहां एंटी टैंक मिसाइल को देखा। अधिकारियों द्वारा इन्फैंट्री में आधुनिकीकरण से जुड़े मुद्दों, प्रशिक्षण, मानव संसाधन विकास व भविष्य के दृष्टिकोण पर विचार-विमर्श किया गया था।

Powered by Blogger.