MP में तीसरी लहर : ऑनलाइन पैटर्न पर हो सकती हैं परीक्षा, 299 कोर्स के एग्जाम- 11 लाख छात्रों का डाटा हो रहा है अपडेट

उच्च शिक्षा विभाग ने भले ही सभी विवि को ऑफलाइन एग्जाम कराने के निर्देश दिए हो, लेकिन जिस तरह की तैयारियां विवि में हो रही हैं, उससे स्पष्ट है कि इस साल भी परीक्षाएं ओपन बुक या ऑनलाइन पैटर्न पर हो सकती हैं। दरअसल, तीसरी लहर में बढ़ते संक्रमण को देखकर बरकतउल्ला, हिन्दी और भोज विवि ने अपनी फैकल्टी और सभी कॉलेज प्रबंधन को कहा है कि वे दोनों ही तरह के पैटर्न पर एग्जाम की तैयारी रखें।

इसकी बड़ी वजह यह है कि बीते वर्ष दिसंबर माह तक ऑफलाइन परीक्षा की तैयारी थी, लेकिन अचानक जब मार्च में 2021 में कोरोना केसेज बढ़ गए तो आनन-फानन में पोर्टल बनाकर ओपन बुक पैटर्न पर एक्जाम कराए गए। जिस पोर्टल की मदद से बीते साल ओपन बुक पैटर्न पर एक्जाम हुआ, उसका संचालन अभी भी हो रहा है।

इसकी मदद से इस साल भी बीयू से संबद्धता प्राप्त सभी कॉलेजों में अध्ययनरत तीन लाख विद्यार्थी की परीक्षा ओपन बुक पैटर्न से हो सकेगी। तीनों ही विवि में सभी नए स्टूडेंट का डेटा अपडेट किया गया है। बीयू में जिन सवा लाख स्टूडेंट ने इस सत्र में एडमिशन लिया है, उनका डाटा भी अपडेट किया गया है।

आरजीपीवी में सेमेस्टर परीक्षा हो रही है ऑनलाइन

राजीव गांधी प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय (आरजीपीवी) में 30 दिसंबर 2021 से ऑनलाइन पैटर्न पर सेमेस्टर एग्जाम शुरू हो रहे हैं जो मार्च 2022 तक चलेंगे। इसके लिए जिस टीम को काम पर लगाया गया था, वह अभी भी काम कर रही है। इंटीग्रेटेड यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट सिस्टम (आईयूएमएस) के जरिए तैयारी कर ली गई है। इधर, बीयू से संबद्धता प्राप्त बीएसएसएस कॉलेज में भी सेमेस्टर एग्जाम ऑनलाइन कराए जा रहे हैं।

299 कोर्स के एग्जाम- 11 लाख छात्रों का डाटा हो रहा है अपडेट

उच्च शिक्षा विभाग भी अपने 49 विवि से मान्यता प्राप्त 1364 कॉलेजों में पढ़ने वाले 11 लाख 78 हजार छात्रों का डाटा अपडेट करवा रहा है। जुलाई से दिसंबर तक नया एडमिशन लेने वाले 90 फीसदी छात्रों की जानकारी भी अपडेट कर ली गई है। अब प्रदेश का कोई भी विवि पांच मिनट में प्रत्येक छात्र तक सूचना पहुंचा सकेगा। गौरतलब है कि प्रदेश में अगले चार महीने में 299 कोर्स के एग्जाम होने हैं।

Powered by Blogger.