BIG ALERT : भारत में पहुंचा ओमीक्रोन, देश में पहली बार ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित मिले दो मरीज

सरकार की लाख कोशिशों के बावजूद भी देश में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन से दो मरीज संक्रमित पाए गए हैं. ये दोनों ही मामले कर्नाटक में पाए गए हैं. 

इसकी पुष्टि खुद भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय ने की है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के हवाले से स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि कोरोना का ओमिक्रॉन वैरिएंट डेल्टा के मुकाबले 5 गुना ज्यादा खतरनाक है और यह बाकी के मुकाबले तेजी से फैल सकता है. 

बता दें अब तक 29 देशों में ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित मरीजों की पहचान हो चुकी है और WHO ने इसे वैरिएंट ऑफ कंसर्न की कैटेगरी में रखा है. सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में इस वैरिएंट से संक्रमित मरीज की पहचान की गई थी.

देश के चर्चित डॉक्टर और मेदांता अस्पताल के संस्थापक डॉ नरेश त्रेहान ने इस वैरिएंट की गंभीरता को लेकर बताया है कि कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित एक व्यक्ति 18 से 20 लोगों को पॉजिटिव कर सकता है.

वहीं देश में कोरोना की मौजूदा स्थिति को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने जानकारी दी है कि देश में बीते एक महीने से कोरोना के नए मामलों में कमी आ रही है.

उन्होंने कहा, 'अब सिर्फ दो राज्यों महाराष्ट्र और केरल में 10 हजार से ज्यादा एक्टिव केस हैं जोकि देश के कुल संक्रमित मामलों का 55 फीसदी है.' 

लव अग्रवाल ने बताया कि देश में करीब 49 फीसदी आबादी को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लग जाने के बाद से ही कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी देखी गई है.

बता दें कि ओमिक्रॉन वैरिएंट से लोगों के संक्रमित होने की खबर सामने आने के बाद ही केंद्र सरकार ने 15 दिसंबर से शुरू होने वाली अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के फैसले को टाल दिया था. 

ओमिक्रॉन के संक्रमण को देश में फैलने से रोकने के लिए बीते दिनों दिल्ली में केंद्र सरकार ने उच्च स्तरीय मीटिंग की थी और सभी राज्यों को अलर्ट जारी कर बाहर से आने वाले लोगों की कड़ी निगरानी करने का निर्देश दिया था.

इसके बाद महाराष्ट्र, झारखंड समेत कई राज्यों ने केंद्र सरकार से विदेशों से आने वाले अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर पूरी तरह प्रतिबंध लगाने की मांग की थी.

Powered by Blogger.