LIVE : CM शिवराज ने बुलाई कलेक्टर-कमिश्नर की बैठक : युद्धस्तर पर करें तैयारी, टेस्टिंग समेत सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त करें

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें


मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोना के बढ़ते केस और बच्चों के वैक्सीनेशन पर कलेक्टर-कमिश्नर की बैठक ले रहे हैं। उन्होंने इंदौर को सबसे ज्यादा सतर्क रहने के लिए कहा है, क्योंकि लोगों की आवाजाही वहां ज्यादा है। सीएम ने इंदौर कलेक्टर से कोरोना नियंत्रण को लेकर कहा कि टेस्टिंग कराने समेत सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त करें। हमारा प्रयास है कि कोविड के मरीजों को कोविड केयर सेंटर में रखें। उन्हें अस्पताल ले जाने की आवश्यकता न पड़े। फीवर क्लीनिक एक्टिव कर दें, जिससे टेस्टिंग लोग आसानी से करा पाएं। सभी व्यवस्थाओं का रिव्यू कर लिया जाए। युद्धस्तर पर तैयारी करें।

सीएम ने सभी से कहा कि हमें पूरी सर्तकता रखनी है, हमें अपनी तरफ से कोई कमी नहीं रहने देना है। क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों की बैठकें जिलों, ब्लॉकों व पंचायत स्तर तक करें। सारे कलेक्टर इसे गंभीरता से लें। 15-18 वर्ष के किशोरों को वैक्सीन लगाने का काम करना है। टीम के साथ मिलकर महाभियान की तरह इसे लें। हम सबसे पहले अपने बच्चों को सुरक्षित करें। तीन तारीख से इसे बड़े स्तर पर शुरू करना हैं। 2 तारीख को मैं क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों से बात करूंगा। सभी कलेक्टर्स को जो टारगेट दे रहे हैं उसे पूरा करें, मुझे सबकी रिपोर्ट दें कि क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठकें सभी ने कर ली हैं। नीचे तक के क्राइसिस ग्रुप से हम संपर्क में रहें । मास्क लगाने का आग्रह करें, रोका-टोकी अभियान जारी रखें, सोशल डिस्टेसिंग का पालन, अनावश्यक भीड़भाड़ से बचें।

ऑक्सीजन प्लांट मंत्री चेक करें

कोविड केयर सेंटर का उपयोग ज्यादा से ज्यादा करें, हर जिले में एक कोविड केयर सेंटर होना चाहिए, बाकी ब्लॉक, पंचायत में भी जरूरत होगी तो शुरू करेंगे। सभी मंत्री ऑक्सीजन प्लांट चेक कर लें। दवाइयों की आपूर्ति सुनिश्चित करें। हम मैपिंग कर लें कि हमारे पास और प्राइवेट हॉस्पिटल के पास कितने बिस्तर हैं। एक एक चीज़ देख लें, कोई कमी नहीं रहनी चाहिए। बैठक सभी मंत्री, कलेक्टर, एसपी, कमिश्नर, आईजी, प्रभारी अधिकारी और संबंधित विभागों से जुड़े अधिकारी वर्चुअली जुड़ें हैं।

होशंगाबाद के इटारसी में कोरोना की एंट्री हो गई है। शहर की साईं फार्च्यून सिटी में कोरोना संक्रमित मिला है। मरीज रेलकर्मी है। एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी ने ने बताया कि मरीज को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। परिवार को क्वारैंटाइन करेंगे।

इंदौर फुली वैक्सीनेटेड (18+ एज ग्रुप में) हो गया है। यानी यहां की आबादी को दोनों डोज लग चुके हैं। 28 लाख लोगों को पहला डोज लगने में 228 दिन लगे थे। दूसरे डोज का टारगेट 120 में ही पूरा हो गया।

इंदौर में बड़ा कोरोना विस्फोट हुआ है। 24 घंटे में संक्रमण दोगुनी रफ्तार से बढ़ा है। 55 नए मरीज मिले हैं। एक दिन पहले 28 दिसंबर को 32, इससे पहले 27 दिसंबर को 27 मरीज आए थे। इंदौर में कोरोना के बढ़ते मरीजों के बीच जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के सामने नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की चुनौती भी है।

ग्वालियर में 4 नए संक्रमितों में तीन बच्चे भी हैं। इनमें से 14 और 17 साल के दो भाइयों की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है। 11 साल बच्चा पेरेंट्स के साथ मुंबई से लौटा है। खंडवा में 20 साल की स्टूडेंट पॉजिटिव आई है। उसने पढ़ाई के लिए चंडीगढ़ जाने के लिए टेस्ट कराया था।

भोपाल में 7 नए संक्रमित मिले हैं। संक्रमितों में 4 पुरुष और 3 महिला हैं। इसमें एक 70 वर्षीय शख्स कोहेफिजा निवासी है। वहीं, सबसे कम उम्र की जाटखेड़ी की एक 26 वर्षीय महिला है। इसके अलावा सभी संक्रमित 30 से ज्यादा उम्र के हैं। नए केस अवधपुरी, आदर्श नगर, बागमुगलिया एक्सटेंशन सहित अन्य इलाकों से है।

Powered by Blogger.