MP : शीतलहर की चपेट में दिन और रातें : छतरपुर का नौगांव सबसे ठंडा, पारा 1.3°C

उत्तर से आ रही बर्फीली हवाओं की रफ्तार धीमी पड़ने से मध्य प्रदेश के कुछ इलाकों में ठंड से मामूली राहत मिली है। अधिकांश इलाकों में रात का पारा 6 डिग्री से नीचे दर्ज हुआ है। सभी शहरों की बात की जाए तो रात का पारा 10 डिग्री से कम पर बना हुआ है। प्रदेश का ज्यादातर हिस्सा शीतलहर की चपेट में है। मौसम वैज्ञानिक पीके साहा ने बताया कि अगले 24 घंटे में मौसम में बदलाव होगा। कड़ाके की ठंड से कुछ राहत मिल सकती है।

ग्वालियर का रात का पारा 2 डिग्री के आसपास है। छतरपुर जिले के नौगांव में पारा 1.3 डिग्री सेल्सियस है। इंदौर, भोपाल और जबलपुर में रात के तापमान में मामूली बढ़त आई है। 25 दिसंबर को पश्चिमी विक्षोभ आने की संभावना है। इसके बाद रात और दिन के तापमान में बढ़ोतरी होगी। मौसम विभाग के अनुसार 25 दिसंबर के आसपास ग्वालियर-चंबल में हल्की बारिश की संभावना है।

खजुराहो, नौगांव, सिवनी, उमरिया और ग्वालियर में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। यहां मौसम विभाग ने सीवियर कोल्ड वेव (अति शीतलहर) घोषित किया है। भोपाल समेत 9 जिले सुबह तक कोल्ड वेव (शीतलहर) की चपेट में रहे। भोपाल के अलावा रीवा, मंडला, सागर, सतना, दतिया, खंडवा, खरगोन और रतलाम में भी ठंडी हवाएं चल रही हैं। कुछ इलाकों को छोड़ दिया जाए तो न्यूनतम तापमान 6 डिग्री के नीचे बना हुआ है।

दिल और दिमाग पर असर

तेज ठंड का असर दिल और दिमाग पर पड़ रहा है। लगातार हार्ट अटैक, ब्रेन स्ट्रोक और ब्रेन हेमरेज के मरीज सामने आ रहे हैं। ग्वालियर में बीते 48 घंटे में अंचल के सबसे बड़े अस्पताल JAH (जयारोग्य हॉस्पिटल) के कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी और न्यूरो सर्जरी विभाग में 41 मरीज गंभीर हार्ट अटैक, ब्रेन स्ट्रोक व ब्रेन हेमरेज के आए हैं। ये मामले शनिवार सुबह से सोमवार दोपहर के बीच आए हैं। हार्ट अटैक के मामलों में एक सप्ताह में 15 फीसदी की वृद्धि हुई है। ब्रेन हेमरेज के मामले 25 फीसदी बढ़े हैं। यह आंकड़ा तो शहर के सरकारी अस्पताल का है। प्राइवेट हॉस्पिटल के आंकड़े इसमें जोड़ दें, तो बीते दो दिन में एक सैकड़ा से ज्यादा मरीज सामने आ चुके हैं। 

न्यू ईयर पर ज्यादा ठंड की संभावना कम

हवाओं की रफ्तार धीमी पड़ने से भोपाल, पचमढ़ी और दतिया में रात के पारा सबसे ज्यादा चढ़ा है। पचमढ़ी में 3 डिग्री से ज्यादा की बढ़ोतरी हुई। यहां पारा माइनस 0.5 तक पहुंच गया था। कुछ इलाकों को छोड़ दिया जाए तो सभी जगह दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी हुई है। अभी भी यह सामान्य से 6 डिग्री सेल्सियस से कम बने हुए हैं। मौसम विभाग की मानें तो अगले दो-तीन दिन तक तापमान कम-ज्यादा होता रहेगा। नए साल पर बहुत ज्यादा ठंड की संभावना कम है।

इन इलाकों में दिन भी सर्द: मध्य प्रदेश में सोमवार को कुछ इलाकों में तापमान 20 डिग्री के नीचे चला गया। सबसे ठंडा दिन पन्ना, अशोकनगर (ईसागढ़), सीधी, रीवा (मऊगंज) और खरगोन में रहा। यहां पारा 20 डिग्री सेल्सियस से भी कम हो गया था।

शीतलहर का अलर्ट: मध्यप्रदेश में अगले 24 घंटे भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर, उज्जैन, रीवा, शहडोल, सागर, जबलपुर, ग्वालियर, चंबल, बालाघाट, सिवनी, नरसिंहपुर, मंडला, बैतूल, रायसेन, सीहोर, धार, उज्जैन, शाजापुर और दतिया में शीतलहर का प्रकोप रहेगा।

Powered by Blogger.