MP : आरक्षक की सेवा समाप्त : आरोप; युवती से छेड़छाड़ और घर में घुसकर की थी गाली-गलौच, SP ने किया नौकरी से बर्खास्त

गुना। जिले में पदस्थ एक आरक्षक की सेवा समाप्त कर दी गयी है। आरक्षक पर युवती से छेड़छाड़ और घर में घुसकर गाली-गलौच का आरोप था। मामला सामने आने के बाद SP ने आरक्षक को निलंबित कर दिया था। साथ ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। जांच पूरी होने के बाद शुक्रवार को SP ने उसे नौकरी से बर्खास्त कर दिया।

बता दें कि 17 दिसंबर को शहर की एक युवती द्वारा अपने पिता के साथ SP को आरक्षक की शिकायत की थी। युवती ने बताया था कि आरक्षक परमजीत सिंह सोढी उसे कई दिनों से परेशान कर रहा है। वह युवती को रास्ते में रोक लेता है। उसके ऑफिस में जाकर परेशान करता है। 8 दिसंबर को आरक्षक रात के समय युवती के घर आया। दरवाजा बंद था तो वह दरवाजा तोड़कर घर में घुस आया। वहां युवती और उसके माता-पिता के साथ गाली-गलौच की। इस मामले का CCTV भी सामने आया था। 17 दिसंबर को भी आरक्षक युवती के ऑफिस में पहुंचा और उसे परेशान किया।

SP राजीव कुमार मिश्रा ने बतायाकि शिकायत सामने आने के बाद CSP आकाश अमलकर को मामले की जांच के निर्देश दिए। युवती की शिकायत पर आरकधक के खिलाफ महिला थाने में FIR भी दर्ज की गई थी। मामला दर्ज होने के बाद आरकधक को गिरफ्तार भी कर लिया गया था। उसके खिलाफ विभागीय जांच भी बिठाई गयी थी।

मामले की जांच में यह सामने आया कि आरक्षक परमजीत सिंह सोडी के आपराधिक कृत्‍य से जहां एक ओर पुलिस की छवि धूमिल हुई है वहीं दूसरी तरफ पुलिस जैसे अनुशासित विभाग में आरक्षक परमजीत सिंह जैसे अनुशासनहीन एवं समाज में भय पैदा करने वाले आरक्षक का बने रहना उचित नहीं है । प्रत्‍येक पुलिस अधिकारी, कर्मचारी का समाज में महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता प्रदर्शित करते हुये उनकी सुरक्षा करना महत्‍वपूर्ण दायित्‍व है। आरक्षक के खिलाफ लगाए गए आरोपी जांच में सही पाए गए। जांच रिपोर्ट आने के बाद SP ने आरक्षक को नौकरी से बर्खास्त कर दिया।

इसी महीने SP ने की थी तारीफ

इसी महीने की शुरुआत में ही आरक्षक को SP से सराहना मिली थी। 9 दिसंबर को आरक्षक ने एक गुम हुए बच्चे को ढूंढकर उसके परिवार वालों से मिलवाया था। एक बच्चा अपने पिता से बिछड़कर आरक्षक को मिल गया था। आरक्षक ने SP को बताया जिसके बाद माइक पर अनाउंसमेंट किया गया। वह सुनकर बच्चे का पिता उसके पास पहुंच गया था। इस मामले में SP ने आरक्षक के काम की काफी तारीफ की थी।

Powered by Blogger.