MP : मंदिर में शहनाई, सड़क पर धुनाई : लव मैरिज कर प्रेमी को भिजवाया जेल, अब दूसरे के साथ ले रही फेरे

शिवपुरी में सोमवार को मंदिर में दूल्हा-दुल्हन फेरे ले रहे थे। बाहर जमकर लात-घूंसे चल रहे थे। मामला करैरा क्षेत्र का है। यहां बाग बगीचा स्थित मंदिर में शादी के बीच कुछ लोगों ने लड़की को अपनी बहू और भाभी बताकर शादी रोकने की मांग की। इस बात पर मारपीट शुरू हो गई। मारपीट के बीच शादी संपन्न हुई और लड़की पति के साथ विदा हो गई।

यह है विवाद की वजह

जानकारी के अनुसार उप्र के झांसी जिले के डोंगरी गांव के रहने वाले अखिलेश परिहार का गांव की ही एक नाबालिग लड़की से अफेयर था। करीब सालभर पहले उसने लड़की के साथ भागकर शादी कर ली थी। लड़की वालों ने थाने में शिकायत दर्ज करवा दी थी। दोनों के गांव लौटते ही लड़की के नाबालिग होने के कारण अपहरण के मामले में लड़के को पुलिस ने जेल भेज दिया।

अखिलेश 8 महीने से जेल में बंद है। लड़की वालों ने दूसरा लड़का देखकर बेटी की शादी तय कर दी। सोमवार को मंदिर पर गुपचुप तरीके से शादी हो रही थी, तभी अखिलेश के परिवार वाले मौके पर पहुंच गए। वे दुल्हन को बहू और भाभी बताकर शादी रुकवाने पर अड़ गए। इसी बात पर दुल्हन के भाई और अखिलेश के भाइयों में विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ा कि मंदिर में फेरे चले और बाहर लात-घूंसे। शादी तो पूरी हो गई, लेकिन मारपीट खत्म नहीं हुई। आखिरी में मारपीट के बीच ही दुल्हन पति के साथ कार में सवार होकर रवाना हो गई।

न शादी रोकेंगे, न लड़के को छुड़वाएंगे

लड़के के चाचा साहब सिंह परिहार का कहना है कि हमारा कहना था कि आपकी लड़की की शादी पहले हमारे लड़के से हुई है। ऐसे में दूसरी शादी से पहले पहली शादी को खत्म करो, तब दूसरी शादी करना या हमारे लड़के को जेल से छुड़वाओ, लेकिन उनका कहना था कि न शादी रुकेगी और न ही लड़के को छुड़वाएंगे।

Powered by Blogger.