REWA : टायर फटने से बोलेरो अनियंत्रित होकर पलटी : पिता-पुत्र की मौके पर मौत, 8 लोग घायल


रीवा जिले के गढ़ थाना अंतर्गत तेंदुआ हाईवे में टायर फटने से एक बोलेरो अनियंत्रित होकर पलट गई। इस हादसे में पिता-पुत्र की मौके पर मौत हो गई। जबकि 8 लोग घायल हो गए थे। जिनमें तीन गंभीर रूप से घायलों को रीवा के संजय गांधी अस्पताल रेफर कर दिया गया था। पुलिस का दावा है कि दुर्घटना के तुरंत बाद सभी को गंगेव सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भेजा था।

जहां मामूली घायलों को प्राथमिक उपचार कर छुट्टी दे दी थी। वहीं मंगलवार की दोपहर मृतक पिता-पुत्र के शव को पीएम कराने के बाद डेड बॉडी परिजनों के सुपुर्द कर दी। इधर थाना पुलिस ने मर्ग कायम कर बोलेरो को जब्त करते हुए घटना के कारणों की जांच शुरू कर दी है।

तेज धमाके के साथ टायर फटा

गढ़ थाना प्रभारी निरीक्षक ओंकार तिवारी ने बताया कि अस्थि विसर्जन कर सोमवार की शाम एक दर्जन लोग बोलेरो में सवार होकर प्रयागराज से सतना की ओर लौट रहे थे। लेकिन जैसे ही तेज रफ्तार बोलेरो NH-30 स्थित तेंदुआ गांव पास पहुंची तो तेज धमाके के साथ टायर फट गया।

हादसे के बाद बोलेरो पलट गई। इसके बाद हाईवे के डिवाइडर से टकराती हुई घटनास्थल से 200 फीट दूर पहुंच गई। हादसे के बाद चींख पु​कार मच गई। ऐसे में तुरंत स्थानीय लोगों ने घटना की सूचना डायल 100, गढ़ पुलिस और 108 एंबुलेंस को दी।

सभी को ले जाया गया गंगेव अस्पताल

सूत्रों की मानें तो बड़े हादसे की जानकारी मिलते ही एसडीओपी शैलेन्द्र शर्मा सहित निरीक्षक ओंकार तिवारी मौके पर पहुंचे। जिन्होंने स्थानीय लोगों की मदद से बोलेरो में फंसे लोगों को बाहर निकलवाते हुए गंगेव अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां पर चिकित्सकों ने रामाधार सिंह पुत्र जागेश्वर सिंह (75) और उसका बेटा विनेश सिंह (35) निवासी ताला जिला को मृत घोषित कर दिया। वहीं घायलों में छत्रपति सिंह सहित दो अन्य को रीवा रेफर कर दिया है। वहीं मामूली घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया है।

मंगलवार की दोपहर हुआ पीएम

गंगेव सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में रात में शव रखने की व्यवस्था न होने के कारण मृतक पिता-पुत्र की डेड बॉडी रीवा के एसजीएमएच भेज दी गई थी। जहां मंगलवार की दोपहर परिजनों की मौजूदगी में पीएम कराया गया। इसके बाद शाम तक शव सौंप दिए गए। पुलिस ने बताया कि रामाधार की पत्नी रामकली सिंह (73) का निधन बीते दिनों हो गया था। ऐसे में परिजन मृतका रामकली का अस्थि विसर्जन करने प्रयागराज गए थे। लेकिन लौटते समय सड़क हादसे का शिकार हो गए।

Powered by Blogger.