REWA : केके स्पन पर कर्मचारियों के बाद अब वेंडर्स ने रुपए नहीं देने का लगाया आरोप, सीवरेज की ठेका कंपनी पैसा रोककर भागी

रीवा। शहर में सीवरेज प्रोजेक्ट का कामकाज देख रही ठेका कंपनी केके स्पन पर कर्मचारियों के बाद अब वेंडर्स ने रुपए नहीं देने का आरोप लगाया है। इनका कहना है कि लाखों रुपए का भुगतान बकाया है, कंपनी के अधिकारियों ने कहा था कि वह पूरी राशि का भुगतान करने के बाद ही यहां से अपनी मशीनें लेकर जाएंगे। इस बीच आरोप है कि एक ठेकेदार को अपनी मशीनें सौंप रहे हैं। कुछ समय पहले ही ठेका कंपनी को मु यमंत्री ने टर्मिनेट किया था, जिसकी वजह से उसका काम शहर में रोक दिया गया है। ठेका कंपनी को निर्माण सामग्री, वाहन एवं अन्य संसाधन मुहैया कराने वाले वेंडर्स ने विश्वविद्यालय थाने में शिकायत दर्ज कराई है। वहीं कंपनी की ओर से भी पुलिस को सूचना दी गई है कि उसकी मशीनें कुछ लोगों ने अपने कब्जे में लेने का प्रयास किया है। मामले की जानकारी लेने विश्वविद्यालय थाने की पुलिस मौके पर पहुंची।

कर्मचारियों को दिया चेक बाउंस

लंबे समय से कंपनी में सेवाएं दे रहे पीडि़त कर्मचारियों का आरोप है कि केके स्पन कंपनी द्वारा छह माह का वेतन भुगतान नहीं किया गया था। कर्मचारियों ने वेतन मांगा तो भुगतान न कर कंपनी ने चेक दे दिया। जिसमें 8 गार्डों में 14 हजार रुपए पांच माह का वेतन, 20 गार्ड इंचार्ज को पांच माह, 51 हजार सिक्योरिटी गार्ड, 43 हजार रुपए शनि शर्मा एवं 51 हजार रुपए का चेक मुकेश मिश्रा को दिया गया था। जिनके सभी चेक बाउंस हो गए हैं। इसी प्रकार विंध्या कांस्ट्रक्सन कंपनी का 7 लाख रुपए, द्विवेदी कास्ट्रक्सन कंपनी का 2.50 लाख रुपए, राजेन्द्र यादव 2.86 लाख रुपए, इसी प्रकार प्रेमधारी 51 हजार, पुष्पेन्द्र सिंह 40 हजार, अनिकेत शुक्ला 50 हजार, दिलीप कुमार 50 हजार, योगेन्द्र सिंह 50 हजार, गणेश साकेत 30 हजार, अखिलेश सिंह 65 हजार, संदीप सिंह 65 हजार सहित कई ऐसे ठेकेदार हैं जो कंपनी से भुगतान पाने के लिए भटक रहे हैं।

Powered by Blogger.