SATNA : रीवा लोकायुक्त टीम की बड़ी कार्यवाही : समिति प्रबंधक और ऑपरेटर को 1700 रुपए लेते रंगे हाथ पकड़ा

सतना। धान खरीदी के एवज में किसान से वसूली करना समिति प्रबंधक और ऑपरेटर को महंगा पड़ गया। लोकायुक्त रीवा की टीम ने दोनों को 1700 रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। दोनों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

लोकायुक्त रीवा की टीम ने सतना के रामपुर बाघेलान तहसील के त्योंधरी में संचालित सेवा सहकारी समिति के धान उपार्जन केंद्र में दबिश देकर समिति प्रबंधक धर्मेंद्र सिंह उर्फ अनिल सिंह और ऑपरेटर अनीस सिंह को रिश्वत लेते पकड़ा है। इन्होंने त्योंधरी निवासी किसान राजेश सिंह से उनकी धान खरीदी के एवज में 2 हजार रुपयों की मांग की थी। बाद में सौदा 1700 रुपए में तय हुआ था। इसमें से 100 रुपए बोरी में ठप्पा लगाने वाले को भी अलग से देने थे। गुरुवार को राजेश सिंह ने उपार्जन केंद्र पहुंच कर 1700 रुपए की रिश्वत दी। इसमें से समिति प्रबंधन ने अपने पास 1600 रुपए रखे। इस पर लोकायुक्त की टीम ने उसे दबोच लिया।

शिकायतकर्ता किसान राजेश सिंह ने बताया कि उसकी 182 कुंतल धान त्योंधरी केंद्र में 8 दिसंबर को तौली गई थी, लेकिन फीडिंग नहीं की जा रही थी। समिति प्रबंधन द्वारा धान की क्वाॅलिटी खराब बता कर पैसँ की मांग की जा रही थी। परेशान होकर उसने सीएम हेल्प लाइन में शिकायत की, वहां भी समाधान नहीं हुआ तो 13 दिसंबर को एसडीएम रामपुर बाघेलान के समक्ष शिकायती आवेदन प्रस्तुत किया। लेकिन फिर भी जब उसकी धान की फीडिंग नहीं हुई तो मजबूरन उसने लोकायुक्त एसपी रीवा गोपाल धाकड़ के पास शिकायत कर दी। राजेश ने बताया कि 16 दिसंबर को उसकी धान की फीडिंग होने की अंतिम तारीख है।

Powered by Blogger.