REWA : रिटायर्ड शिक्षक का देहदान : परिजनों ने इच्छा अनुसार पार्थिव शरीर को SS मेडिकल कॉलेज को सौंपा, 2018 में पत्नी के साथ भरा था संकल्प पत्र

रीवा शहर के श्याम शाह मेडिकल कॉलेज में 17वां देहदान हुआ है। यह देह सतना जिले के नागौद तहसील अंतर्गत ग्राम धौरहरा निवासी रिटायर्ड शिक्षक राजबली सिंह परिहार की है। जिनकी इच्छा के अनुसार उनके परिजनों ने पार्थिव शरीर मंगलवार की शाम रीवा एसएस मेडिकल कॉलेज को सौंप दिया। परिजनों ने कहा कि जिंदा रहते बाबू जी गांव-गांव जाकर बच्चों को पढ़ाया करते थे। अब मरने के बाद बच्चों की किताब का हिस्सा होंगे।

मेडिकल कॉलेज से मिली जानकारी के अनुसार 84 वर्षीय शिक्षक राजबली सिंह का सोमवार की रात निधन हो गया था। उन्होंने अंतिम सांस अपने ​गृह ग्राम में ली। निधन उपरांत घर के सदस्यों ने देहदान कराने के लिए संत मोतीराम आश्रम सतना से संपर्क किए। जिसके बाद एसएस मेडिकल कॉलेज को सूचना दी गई। संकल्प पत्र के मुताबिक विशेष वाहन से देह रीवा लाई गई। इसके बाद पुष्प अर्पित कर अंतिम विदाई देते हुए प्रकिया पूर्ण की गई।

पति-पत्नी ने एक साथ भरा था संकल्प पत्र

विभागाध्यक्ष डॉ. पीजी खानवलकर ने बताया कि रिटायर्ड शिक्षक रामबली सिंह परिहार और उनकी धर्मपत्नी बृजभान कुमारी ने एक साथ वर्ष 2018 में देहदान का संकल्प फार्म भरा था। तब संत मोती राम आश्रम के माध्यम से दंपती के देहरान संकल्प पत्र 5 मार्च 2018 को मेडिकल कॉलेज रीवा को सौंपा गया था। संत मोतीराम आश्रम सतना के सेवादार अतुल दुबे ने बताया कि यह उनके द्वारा दूसरा देहदान है। इसके पहले 24 सितंबर 2018 को दयाराज कापड़ी का देहदान कराया था

Powered by Blogger.