REWA : नववर्ष 2022 के पहले दिन भक्तों की मंदिरों में उमड़ी भीड़ : चिरहुला मंदिर और देवतालाब में एक लाख से ज्यादा भक्तों ने चढ़ाया जल

     

रीवा जिले के मंदिरों में नववर्ष 2022 के पहले दिन भक्तों की आस्था उमड़ पड़ी है। अकेले शहर के चिरहुला मंदिर और देवतालाब मंदिर में सुबह से लेकर शाम तक एक लाख से ज्यादा भक्त जल चढ़ा चुके है। इसी तरह किला स्थित महामृत्युंजय मंदिर, कोठी क पाउंड स्थित सांई मंदिर, कोठी क पाउंड स्थित मनकामेश्वर नाथ मंदिर, गुढ़ स्थित कष्टहर नाथ मंदिर, देवतालाब, रानीतालाब स्थित मां कालिका मंदिर में श्रद्धालुओं भी आस्था दिखी है। पुलिस-प्रशासन के जिम्मेदार व्यवस्था बनाने में दिनभर मशक्कत की। फिर भी देर शाम तक भक्तों का आना जाना जारी रहा है।

कोविड गाइड लाइन का कहीं नहीं हुआ पालन

नववर्ष के उत्साह के चक्कर में ज्यादातर भक्त कोरोना गाइड लाइन के नियम भूल गए थे। हालांकि प्रशासन के जिम्मेदार समझाइश देने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन भक्तों की भीड़ के आगे प्रशासन के नियम बौने नजर आए है। चिरहुलानाथ मंदिर प्रांगण में तो कहीं पैर रखने तक का स्थान नहीं था। इसी तरह देवतालाब शिव मंदिर में भी नियमों की धज्जियां उड़ी है।

सेल्फी में कैद किए पहले साल का दृश्य

शहर के व्यंकट भवन और रानी तालाब में पहुंचकर नए जोड़ों व युवा और युवतियों ने सेल्फी लेकर नए साल का दृश्य मोबाइल में कैद किया। वहीं दूसरी तरह रीवा के पूर्वा फाल, चचाई फाल, क्योटी फाल और बहुटी फाल, टोंस वाटर फाल सहित मुकुंदपुर में शहर वासियों ने पहुंचकर अपने पहले दिन को यादगार बनाया है।

Powered by Blogger.