REWA WEATHER UPDATE : जिले में 9 से 12 जनवरी तक हो सकती है गरज चमक के साथ जोरदार बारिश

ख़बरों के बेहतर एक्सपीरिएंस के लिए डाउनलोड करें Rewa News Media ऐप, क्लिक करें

REWA WEATHER NEWS : रीवा जिले में आगे आने वाले चार दिनों में 9 जनबरी से 12 जनबरी तक हो सकती है गरज चमक के साथ बारिश जिसका प्रभाव आगामी 24 घंटों के दौरान जिले में  08 जनवरी की रात्रि से बारिश का क्रम कुछ तेज हवाओं के झोंको के साथ देखने को मिल सकता है साथ-साथ आसमान में बादल रहने एवं अगले आने वाले दिनों में अधिकतम तापमान 20 से 22 डिग्री सेल्सियस  तथा न्यूयनतम तापमान 09 से 14 डिग्री सेल्सियस तथा हवा की गति 08 से 17 किलोमीटर प्रति घंटे सामान्य से कुछ तेज चलने के आसार है एवं हवा की दिशा दक्षिण - पूर्व रहने की सम्भावना है। एवं इसके साथ ही जिले में  09,10,11 और 12 जनबरी को बादल रहने एवं गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश और जिले के कुछ  स्थानों पर ओला पड़ने की सम्भावना है और  साथ साथ आगामी दिनों में सुबह के समय मध्यम कोहरा छाए रहने का भी पूर्वानुमान है.

वर्तमान में पश्चिमी विछोभ (Western Disturbance) निचले और मध्य छोभ (mid chobh) मंडल स्तरों में एक ट्र्फ के रूप में बना हुआ है  ऊपर चक्रवातीय परिसंचरण पूर्वी अफगानिस्तान और दक्षिण पश्चिमी राजस्थान और इसके आस पास के इलाको में एक प्रेरित चक्रवात बना हुआ है अतः किसान भाइयों को सलाह दी जाती है की आगामी मौसम में किसान भाई विशेष कर आलू , सरसों , चना, अरहर , मटर, मसूर, अलसी तथा सब्जियों वाली फसलों इत्यादि में जल निकास की समुचित व्यवस्था करे एवं इस मौसम में सब्जियों और सरसों में माहुं कीट लगने तथा आलू और टमाटर में पछेती अंगमारी झुलसा रोग लगने का खतरा ज्यादा है अतः किसान भाई अपने खेतो का सतत निरिक्षण करते रहे एवं बिजली गिरने वाले प्रभावित इलाके में है तो खेतों, पेड़ों के नीचे, पहाड़ी इलाकों, चट्टानों के आस पास बिल्कुल न जाएं।

इस के साथ ही धातुओं के बर्तन धोने से बचें, नहाने से बचें, बारिश और जमा पानी में खड़े होने से बचें इसके अलावा छाते का इस्तेमाल भी न करें और बिजली के हाइटेंशन तारों और टावर से दूर रहें।अगर आपके आसपास पेड़ है तो पेड़ की ऊंचाई के चार गुना दूर खड़े हो जाये। 

इस स्थिति में किसान भाई घर के अंदर चले जाएं अगर आप कहीं बाहर हैं और घर जाना संभव नहीं है, तो सब से पहले खुली जगह पर ही कान बंद कर के घुटनों के बल बैठ जाएं।अपने शरीर को बहुत ही कम स्थान में समेट ले ताकि बिजली गिरने की स्थिति में आप पर कम प्रभाव हो इससे खतरे को भी टाला जा सकता है.

संदीप कुमार शर्मा मौसम वैज्ञानिक कृषि विज्ञान केन्द्र-रीवा

Powered by Blogger.