Russia and Ukraine Conflict : मेडिकल की पढ़ाई कर रहे 5 हजार भारतीय स्टूडेंट फ़से : घर वापस लौटने फ्लाइट का किराया तीन गुना बढ़ा

रूस और यूक्रेन में बीते कई दिनों से जारी तनाव के बीच युद्ध की आशंका गहरा गई है। ऐसे में भारत समेत करीब सभी देशों ने अपने नागरिकों और छात्रों को यूक्रेन से वापस बुलाने के लिए एडवाइजरी जारी की है। इस बीच, मीडिया ने 5 हजार किलोमीटर दूर यूक्रेन में मध्यप्रदेश के रतलाम के रहने वाले मेडिकल स्टूडेंट मिराज से वहां के ताजा हालात जानें। मिराज ने बताया कि फ्लाइट का किराया तीन गुना तक बढ़ गया है। यूक्रेन के अंदर ट्रैवल की मनाही है। 

पूरा विश्व बेवजह पैनिक हो रहा है। पढ़िए मिराज की जुबानी..यूक्रेन की कहानी

मैं बीते चार साल से यूक्रेन के इस्टर्न रीजन में रहकर मेडिकल की पढ़ाई कर रहा हूं। रशियन बॉर्डर से यह इलाका काफी दूर है। आज सुबह थोड़ा स्ट्रेस था, लेकिन अब मैं ठीक हूं। 20 जनवरी के बाद से फ्लाइट का किराया दो से तीन गुना बढ़ गया है। पहले 30 हजार रुपए किराया देकर हम भारत पहुंच जाते थे। अब 60 से 80 हजार रुपए तक लग रहे हैं। 

पूरा विश्व बेवजह पैनिक कर रहा है। मुझे ऐसा कुछ नहीं लग रहा कि युद्ध होगा। मेरी फैमिली भी बहुत चिंता कर रही है। फैमिली ने ही मेरी टिकट कराई है। रशिया यदि युद्ध करता है, तो भारत सरकार कोरोना काल की तरह वंदे भारत मिशन चलाकर यूक्रेन से भारतीयों को लाए। मैं बुधवार को यूक्रेन छोड़ रहा हूं। यहां, सब ठीक है। 

रशिया के बॉर्डर के स्टेट में कुछ लोगों ने राशन-पानी का इंतजाम कर लिया है। बाकी शहरों में हालात नॉर्मल है। हम लोग भारतीय दूतावास से बात कर रहे हैं कि क्लास ऑनलाइन करवा दो, ताकि हम घर लौट जाएं। भारत सरकार ने टेंपरेरी एडवाइजरी जारी की है कि हम इंडिया जा सकते हैं। साथ ही यह भी कहा है कि यूक्रेन के अंदर ट्रैवल मत करो। यूक्रेन के लोगों को भरोसा है कि युद्ध नहीं होगा। अगर कुछ होता भी है, तो हमारा शहर सेफ है। रशिया के बॉर्डर स्टेट में हमारा शहर नहीं आता।

5 हजार भारतीय स्टूडेंट, सभी सुरक्षित

मिराज ने बताया कि यूक्रेन में करीब 5 हजार स्टूडेंट हैं। सभी सुरक्षित हैं। अधिकतर स्टूडेंट मेडिकल की पढ़ाई करने आते हैं। मेरी यूनिवर्सिटी में करीब एक हजार भारतीय स्टूडेंट हैं। सुबह मैं अपने दोस्तों के साथ कॉलेज गया था, लेकिन कॉलेज की तरफ से बोला गया कि ऑनलाइन क्लास अटैंड करिए।

Powered by Blogger.