इतिहास की सबसे खूबसूरत महिला, जिसे दुनिया ने मार डाला : इसकी कहानी आज भी इतिहास के पन्नो मे दर्ज है

भारत में वैसे तो अनेक सुंदर लड़कियों ने जन्म लिया है, जिनके रूप को देख कर दुनिया उनकी सुंदरता की दीवानी हो गई. भारत मे ऐसी कई सुंदर स्त्रियो ने समाज के कारण अपनी जीवन लीला को समाप्त कर लिया. आज हम एक ऐसी ही रानी के बारे मे आपको बताने वाले है, जो बहुत खूबसूरत थी. वह रानी ओर कोई नहीं रानी रूपमती थी.

रानी रूपमति की कहानी आज भी इतिहास के पन्नो मे दर्ज है. वह मांडू की एक किसान की पुत्री, जैसा उनका नाम था, वैसे ही इसके गुण भी थे. वह बहुत ही सुंदर स्त्री थी. तिरुपति सुंदर होने के अलावा गायन कला में भी निपुण हो गई थी. उनकी मधुर आवाज बहुत ही सुरीली थी.

बाज बहादुर मांडू के अंतिम स्वतंत्र शासक थे, जब उन्होंने रानी रूपमती के बारे में सुना, तो उन्होने अपने महल में रूपमती को बुलवाया. बाज बहादुर रूपमती की गायनकला संगीत और सुंदरता से अत्यधिक मोहित हो गए ओर दोनों मे प्रेम हो गया जिसके बाद उन्होने शादी कर ली.

इस बारे मे जब अकबर को पता चला, तो वह रूपमती को पाने की चाहत रखने लगा.  जब अकबर ने बाज बहादुर को पत्र मे रूपमती को अकबर की सेवा के लिए भेजने की बात कही तो बाज बहादुर अत्यधिक क्रोधित हो गए ओर उन्होने अकबर को पत्र लिखते हुये कहा की वह अपनी सबसे प्रिय रानी को मांडू भेज दे.

इस बात से अकबर आग बबूला हो गया और उसने अपने सेनापति आजम खां को निर्देश दिये की वह मालवा पर तुरंत आक्रमण कर रूपमती को बंदी बनाकर उनके सामने प्रस्तुत करे.

आजम खान ने विशाल सेना को साथ लेते हुये बाज बहादुर पर आक्रमण कर दिया.  हालाकी छोटी सेना होने के बावजूद बाज बहादुर ने अकबर की विशाल सेना का  मुकाबला किया, किन्तु वह विजय नहीं हो पाये. आजम खान ने उन्हे बंदी बना लिया.

जब आजम खान रानी रूपमती की तरफ जाने लगा तो रूपमती ने जहर खाकर अपनी जीवन लीला को समाप्त कर लिया. जब अकबर को इस बात की जानकारी हुई तो उसे बहुत ही आहत पहुचा. अकबर ने रूपमती की याद मे एक मकबरा बनवा दिया.  

इस घटना के बाद बाज बहादुर को पुनः अपनी राजधानी भेज दिया गया. बाज बहादुर जब मालवा पाहुचे तो रूपमती के मकबरे पर सिर रखकर उन्होने भी अपने प्राण त्याग दिए. आज भी दोनों के मकबरे मध्य प्रदेश में स्थित है.

Powered by Blogger.