REWA : राज निवास में युवती के साथ दुष्कर्म करने वाला महंत सीताराम महाराज सिंगरौली में हुआ गिरफ्तार

( ग्राउंड एमपी 17 ऋतुराज द्विवेदी की रिपोर्ट ) इस वक्त की बड़ी खबर से आपको हम रूबरू बनाना चाहेंगे जहां राज निवास में युवती के साथ हुए दुष्कर्म के मामले में फरार महंत राम और सिद्धार्थ त्रिपाठी सिंगरौली से हुआ गिरफ्तार। 

आपको बता दें कि वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर दबंग डीएसपी राजीव पाठक और टीआई यूपी सिंह की टीम ने घेराबंदी कर बलात्कारी आरोपी को धर दबोचा है वहीं उक्त आरोपी बाल और दाढ़ी बनवा कर भेज बदलने की फिराक में था जहां बलात्कारी बाबा को डीएसपी राजीव पाठक ने सिंगरौली बस स्टैंड के पास नाई की दुकान से आरोपी को धर दबोचा है।


बाल और दाढ़ी बनवाकर भेस बदलने के फिराक में था बलात्कारी बाबा

किशोरी को शराब पिलाने की कोशिश

किशोरी को वहां पहले शराब पिलाने की कोशिश की गई। फिर गुंडा और उसका साथी रूम का दरवाजा बंद कर निकल गए और महंत ने ये वारदात की। रूम हिस्ट्रीशीटर के नाम पर ही बुक था। आरोपी महंत श्रीराम जन्मभूमि न्यास के पूर्व सदस्य व पूर्व सांसद रामविलास वेदांती का शिष्य है। शाम को सिंगरौली से आरोपी महंत सीताराम दास को गिरफ्तार कर लिया गया है।

आपको बता दें कि कल राजविलास में कर्मकांड को लेकर लड़की ने महंत पर रेप का मामला दर्ज करवाया है जहां बड़ी कृत्य से समूचे प्रदेश में हड़कंप मच गया है।

वही नाबालिक लड़की के साथ हुए कृत्य को लेकर सभी वरिष्ठ अधिकारी लगातार रात से ही अलर्ट रहें  जहां शाम होते ही आज पुलिस को सफलता हासिल हुई।

आपको बता दें कि किशोरी को यह कहा गया था कि महंत के विशेष आशीर्वाद से उसके बिगड़े काम बन जायेंगे क्योंकि उक्त महंत को विशेष आशीर्वाद प्राप्त है किशोरी को वहां पहले शराब पिलाने की कोशिश की गई और उससे पहले महंत ने शराब पार्टी अपने चमचों के साथ की थी।

वही आपको खबरों से रूबरू करा दे की आरोपी महंत श्रीराम जन्मभूमि न्यास के पूर्व सदस्य व पूर्व सांसद रामविलास वेदांती का शिष्य है। बताते चलें कि उक्त महंत ना केवल उनका शिष्य बल्कि परिवार के नाते राम विलास वेदांती का नाती लगता है जो कि जिले के गुढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत गुढ़वा का रहने वाला है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने बताया

आपको बता दें कि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिव कुमार वर्मा ने बताया कि सोमवार शाम अकोरी थाना नईगढ़ी निवासी विनोद पांडे के बुलाने पर किशोरी सतना से रीवा ही किशोरी को झांसा देकर आरोपी बाबा ने से मिलने सर्किट हाउस लाया गया उसे पहले सैनिक स्कूल के पास बुलाया गया फिर वहां से गाड़ी में बैठा कर राजविलास के अंदर ले जाया गया नाबालिक को महंत सीताराम उर्फ सुमन त्रिपाठी से विनोद पांडे ने मिलवाया था।

दो नामजद और दो अज्ञात हैं आरोपी

आपको बता दें कि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिव कुमार वर्मा ने बताया कि मामले में चार आरोपी बनाए गए हैं पहला मुख्य आरोपी सीताराम और सुमन त्रिपाठी और दूसरा विनोद पांडे है दो आरोपी फिलहाल अज्ञात हैं पुलिस ने विनोद को गिरफ्तार कर लिया है एक संदेही देर रात पुलिस के हाथ लग गया है वही शाम को सफलता लगते ही सिंगरौली से महंत सीताराम को गिरफ्तार कर लिया गया है वही आपको बता दें कि विनोद पांडे पूर्व का आदतन अपराधी है जहां हाल ही में जेल से छूटकर आया है।

आरोपी महंत पर रीवा पुलिस मेहरबान

आपको बता दें कि आरोपी महंत पर वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा विशेष महत्व दिया जा रहा था जहां महंत दर्शन करने जाता वहां वहां पुलिस की विशेष व्यवस्था भी जाती जिससे महंत का प्रोटोकॉल मजबूत हो सके आखिरकार एक युवक को महंत का दर्जा कैसे दे दिया गया यह तो सोचने वाली बात है। वहीं जगह-जगह मंदिरों में भी महंत को रीवा पुलिस द्वारा वीआईपी प्रोटोकॉल भी दिया गया था।

महंत सहित चार पर मामला दर्ज

आपको बता दें कि महान की गिरफ्तारी हो चुकी है लेकिन अभी तक अन्य आरोपी फरार हैं जल्द से जल्द इस पूरे मामले का खुलासा किया जाएगा।

Powered by Blogger.