REWA : रीवा राजनिवास में किशोरी के साथ महंत ने किया दुष्कर्म : एक आरोपी गिरफ्तार महंत फरार

( ग्राउंड एमपी 17 ऋतुराज द्विवेदी की रिपोर्ट ) रीवा। शहर के समदड़िया मॉल का शुभारम्भ में कथा करने आये महंत ने एक किशोरी के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया है। यह वारदात भी रीवा के सबसे पास इलाके राजनिवास सिविल लाइन में हुई है। 

समदड़िया बिल्डर के द्वारा बनाए गए शॉपिंग मॉल के उद्घाटन में कथा वाचन करने के लिए बुलाया गया था महंत को महंत सीताराम दास महाराज की बड़ी-बड़ी हार्डिंग रीवा शहर के तमाम चौराहे पर लगाई गई हैं, आप महंत जी के शकल का दर्शन कर लें, हो सकता है आपके भी कुछ ज्ञान चच्चू खुल जाएं. 

राजनिवास में महंत का कुकर्म

शराब पार्टी के बाद हैवानियत

सिविल लाइन थाने में एडिशनल एसपी शिव कुमार वर्मा ने किया खुलासा

एक आरोपी गिरफ्तार

महंत एवं ड्राइवर की तलाश जारी

राज निवास के कर्मचारियों की भी मिलीभगत..?


घटना के बाद से महंत फरार है और पुलिस उसकी तलाश कर रही है। महंत के चेले सहित एक अन्य को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। महंत का चेला ही उसे नाबालिक को महंत तक ले के आया था। जी हां यह अब तक कि सबसे बड़ी खबर सामने आ रही है जिसमे एक महंत ने किशोरी के साथ बारदात को अंजाम दिया है।

जानिए  पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक समदड़िया माल के उद्घाटन में कथा करने आये महंत समर्थ त्रिपाठी उर्फ सीताराम महाराज ने दुष्कर्म वारदात को अंजाम दिया है, बताया गया कि जिले विनोद पांडेय नाम के युवक ने किसी 15 वर्षीय किशोरी को सतना से बुलवाया था, जब वह रीवा आ गई तो वह उसे राजनिवास के समीप बुलवाया और अपने साथी को भेज उसे राजिनिवास बुलाया, जब किशोरी आई तो उसे राजनिवास के रूम नंबर 4 में बुलाया गया जहा विनोद सहित अन्य ने बैठकर बात की कुछ देर में महंत सीताराम और उसका चेला भी आये जिनसे किशोरी का परिचय कराया गया और कुछ ही देर में वहा शराब खोरी होने लगी जिसमें किशोरी को भी शराब पिलाने का प्रयाश किया गया, जब किशोरी ने मना किया तो बाकी लोंग कमरे से बाहर चले गए और महंत और किशोरी बस कमरे में राह गए, जब वह निकले तो दरवाजा बाहर से बंद कर दिया और महंत ने भी कमर बन्द कर लाइट बन्द कर दी, पहले तो महंत किशोरी को मनाया जब वह नही मानी तो उसका मुह दबाकर जबरन दुष्कर्म किया, दुष्कर्म के बाद किशोरी के फोन से उसने कॉल किया और विनोद को बुलाया और उसे बाहर छोड़ा गया. 

परिचित मिले तो बची किशोरी

बताया गया कि विनोद पांडेय का जो साथी किशोरी को छोड़ने गया था जब उसने किशोरी को गाड़ी से उतारा तो किशोरी के पहचान के लोंग मिल गए वह उनके पास भागी गई, यह देख युवक वह से भाग निकला। किशोरी ने परिचितों को बताया फिर महिला पुलिस अधिकारी से पूरी हकीकत बया की। 

जिसके बाद जानकारी पुलिस को दी गई। पुलिस को सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और विनोद पांडेय को गिरफ्तार कर लिया है। महंत की तलाश पुलिस कर रही है. 

Powered by Blogger.