MP 'गृह प्रवेशम्' : ग्रामीण भाई-बहनों के जीवन में नया सवेरा : आज 5 लाख से ज्यादा परिवारों को PM नरेंद्र मोदी ने दी पक्की छत


मध्यप्रदेश में आज 5 लाख से ज्यादा परिवारों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पक्की छत दी। प्रधानमंत्री ने 5 लाख 21 हजार परिवारों को 'गृह प्रवेशम्' कराया। PM मोदी आवास योजना (ग्रामीण) के तहत बनाए गए घरों को वर्चुअल कार्यक्रम के जरिए लाभार्थियों को दिया गया। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान छतरपुर से वर्चुअली जुड़े।

PM ने कहा- जब इन लोगों की सरकार थी, तो इन्होंने गरीबों के राशन को लूटने के लिए अपने 4 करोड़ फर्जी लोग कागजों में तैनात कर दिए थे। इन 4 करोड़ फर्जी लोगों के नाम से राशन उठाया जाता था। बाजार में बेचा जाता था और इसके पैसे इन लोगों के काले खातों में पहुंचते थे। 2014 में सरकार में आने के बाद से ही हमारी सरकार ने इन फर्जी नामों को खोजना शुरू किया और इन्हें राशन की लिस्ट से हटाया। हमने राशन की दुकानों में आधुनिक मशीनें (ई-पॉस मशीन) लगाकर यह सुनिश्चित किया कि राशन की चोरी न हो पाए। मशीनों को लगाने का अभियान शुरू किया तो उसका भी मजाक बनाया। उनको मालूम था कि इससे सच पता चल जाएगा। इसीलिए अफवाह तक फैला दी कि राशन लेने जाएंगे और अंगूठा लगाएंगे तो कोरोना हो जाएगा।

PM मोदी के भाषण की प्रमुख बातें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा- इस वर्ष के बजट में पूरे देश में 80 लाख से अधिक घर बनने के लिए पैसे आवंटन करने के लिए प्रावधान किया गया है। अब तक सवा 2 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा इस योजना पर खर्च किए जा चुके हैं।

PM आवास योजना के तहत जो घर बने हैं, उनमें से करीब दो करोड़ घरों पर मालिकाना हक महिलाओं का भी है। इस मालिकाना हक ने घर के दूसरे आर्थिक फैसलों में भी महिलाओं की भागीदारी को मजबूत किया है।

महिलाओं की परेशानी दूर करने के लिए हमने घर-घर पानी पहुंचाने की शुरुआत की। देश में 6 करोड़ परिवारों तक पानी पाइप से पहुंच रहा है। मध्यप्रदेश में पहले 13 लाख परिवार ऐसे थे, जिनकी संख्या अब 50 लाख है।

PM आवास में शौचालय है। इसमें सौभाग्य योजना के तहत बिजली कनेक्शन है। उजाला योजना के तहत LED बल्ब है। उज्ज्वला के तहत गैस कनेक्शन मिलता है। हर घर जल योजना के साथ पानी कनेक्शन भी देते हैं।

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत गांवों में बने ये सवा पांच लाख घर, सिर्फ एक आंकड़ा नहीं है। ये सवा पांच लाख घर, देश में सशक्त होते गरीब का पहचान हैं। ये सवा 5 लाख घर बीजेपी सरकार की सेवा भाव की मिसाल है, ये गांव के गरीब महिलाओं को लखपति बनने के अभियान के प्रतिबिंब है। जब गरीब परिवारों को सिर पर छत होती है, तो उसकी प्रगति के रास्ते खुलते हैं। बच्चों की पढ़ाई, आमदनी में वृद्धि के रास्ते मजबूत होते हैं।

आज मध्यप्रदेश के लगभग सवा 5 लाख लोगों को उनके सपनों का घर उन्हें मिल रहा है। कुछ दिनों में नव संवत्सर प्रारंभ होने जा रहा है। नए वर्ष में अपने घर में गृह प्रवेश करने के लिए आपको बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

छतरपुर में CM शिवराज के भाषण की प्रमुख बातें

मुख्यमंत्री ने कहा- गांवों में कच्ची झोपड़ी की जगह पक्के मकान बनाने के लिए प्रधानमंत्री के नेतृत्व में लगातार कार्य हो रहा है। बेहतर जीवन गरीब परिवारों का हक है, हम उसे उसका अधिकार दे रहे हैं।

भाजपा सरकार सबकी है, लेकिन सबसे पहले गरीबों की है। इसलिए रोटी, कपड़ा और मकान इन्हें देकर भाजपा सामाजिक न्याय कर रही है। गरीब को भी हंसने-मुस्कुराने का हक है।

गुंडे, बदमाशों और माफिया कान खोलकर सुन लो कि गरीबों को डराया, धमकाया, परेशान किया या उनका हक छीनने की कोशिश की, तो बख्शे नहीं जाओगे। बुलडोजर चलेगा और जमींदोज कर दिए जाओगे।

2 जून को महाराजा छत्रसाल की जयंती पर छतरपुर का गौरव दिवस मनाया जाएगा।

प्रधानमंत्री आवास योजना क्या है?

1 अप्रैल, 2016 में प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत हुई थी। मध्यप्रदेश में अभी तक इस योजना में 24 लाख से अधिक घर बनाए जा चुके हैं। योजना का लक्ष्य 2024 तक सभी पात्र बेघर परिवारों एवं कच्चे और टूटे मकानों में रह रहे परिवारों के लिए पक्के घर बनवाना है।

Powered by Blogger.