REWA : हेलमेट लगाकर दुष्कर्मी महंत और विनोद पांडेय को भारी पुलिस के बीच न्यायालय से निकाला बाहर, 2 दिन की रिमांड में रहेगा आरोपी

रीवा। सर्किट हाउस में नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपित महंत सीताराम दास के मकान को प्रशासन ने गुरुवार को बुलडोजर चलवाकर जमींदोज कर दिया। पुलिस ने आरोपित महंत व हिस्ट्रीशीटर विनोद पांडे को जिला एवं सत्र न्यायालय में पेश किया। न्यायालय ने महंत को दो दिन के पुलिस रिमांड पर, जबकि विनोद को जेल भेज दिया। पुलिस महंत सीताराम को नकाब पहनाकर सिविल लाइन थाने से करीब सौ मीटर दूर स्थित न्यायालय पैदल लेकर पहुंची थी।

इस दौरान बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जमा हो गई थी। अध‍िवक्ताओं ने आरोपित को फांसी की सजा देने की मांग कर नारेबाजी की। इस मामले के दो अन्य आरोपित अभी फरार हैं। एक अन्‍य आरो‍पित विनोद पांडे के गृह गांव नईगढ़ी थाना क्षेत्र के अकौरी में बने मकान को प्रशासन ने जमींदोज कर दिया।

दुष्कर्मी महंत सीताराम के गिरफ्तारी के बाद प्रशासन और पुलिस की बड़ी कार्रवाई सामने आ रही है। महंत सीताराम के घर को प्रशासन व पुलिस की टीम ने जमींदोज कर दिया है। इस बात को लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने भरे मंच से कार्रवाई के निर्देश दिए थे, जिसके बाद यह कार्रवाई महज 24 घंटे के भीतर पुलिस ने की है। कलेक्टर मनोज पुष्प, एसपी नवनीत भसीन गुढ़ में महंत का घर ढहाया गया। आपको बता दें कि आरोपी के गुढ़ क्षेत्र के गुढ़वा ग्राम में स्थित पक्के मकान को प्रसासन ने गिरा दिया है। समर्थ त्रिपाठी बीते दिनों राजनिवास के कमरा न. 4 में नाबालिग के साथ हुए दुष्कर्म का मुख्य आरोपी है। जिसे कल सिंगरौली से गिरफ्तार किया था और प्रशासन ने उस पर कार्यवाही करते हुए उसके मकान को जमींदोज कर दिया। अब देखना यह है कि क्या इसी प्रकार अन्य आरोपियों के मकानों पर भी प्रशासन का बुलडोजर चलेगा जिन्होंने उस युवती को बाबा के सामने परोस दिया या फिर यह कार्यवाही सिर्फ दुष्कर्मी महंत तक ही सीमित रहती है। क्योंकि इस अपराध में चारो आरोपी बराबर के हिस्सेदार हैं और इसलिए अब देखना यह है कि क्या इन पर कार्यवाही भी समान रूप से की जाएगी।

महंत के साथी भी निशाने पर 

बता दें कि महंत सीताराम के साथी भी प्रशासन के निशाने पर है, महंत के हिस्ट्रीसीटर साथी विनोद पांडेय का भी घर जमींदोज करने की योजना तैयार की जा रही है ऐसी चर्चा है। इसके अलावा उसके साथ वारदात को अंजाम देने वाले चेलो को भी नहीं बक्शा जाएगा। महंत का बुढ़वा स्थित मकान गिरने के बाद से गांव में हड़कंप मचा हुआ है। 

1500 वर्गफीट में बना था मकान 

बता दें कि प्रशासन द्वारा महंत सीताराम दास के जिस मकान में कार्रवाई की गई है वह करीब 1500 वर्गफीट में बना हुआ है, इस मकान में कोई रहता नहीं था, बताया गया कि महंत के माता-पिता भोपाल में रहते हैं। इस घर को जमींदोज कर दिया गया है। अन्य आरोपियों के भी मकान में बुलडोजर चलाया जाना है।

Powered by Blogger.