Bhopal railway station से गुजरने वाली स्पेशल ट्रेनाें में 30 फीसदी किराया ज्यादा : जानिए कहाँ के लिए कितना किराया

भोपाल रेलवे स्टेशन से शुरू होने व गुजरने वाली इक्का-दुक्का पैसेंजर श्रेणी की ट्रेनों को छोड़ दें, तो अधिकतर ट्रेनें चल पड़ी हैं। लेकिन जितनी मेल, एक्सप्रेस व सुपरफास्ट चल रही हैं, उनमें कोरोना काल के पहले के मुकाबले किराया ज्यादा लिया जा रहा है। हालांकि ज्यादा लिया जाने वाला एसी-3 श्रेणी में अधिकतम किराया 50 रुपए के आसपास है, जो दूरी के हिसाब से है। उधर रेल अधिकारियों का कहना है कि जैसे-जैसे अनरिजर्व कोच के रिजर्वेशन खत्म हो जाएंगे, सॉफ्टवेयर में दर्ज पुराने किराए को नए से मिलाकर विसंगतियां दूर की जाएगी।

पश्चिम-मध्य रेल जोन के प्रवक्ता राहुल जयपुरियार का कहना है कि किराए में अंतर का आंकड़ा रेलवे काउंटरों व आईआरसीटीसी से ऑनलाइन बनने वाले टिकटों में आने की संभावना है। वहां ऑनलाइल चार्ज भी लगते हैं, जबकि रेलवे काउंटरों पर बेस किराए के साथ श्रेणी के हिसाब से किराया लगता है।

स्पेशल ट्रेनाें में तो 30 फीसदी ज्यादा

समर व स्पेशल ट्रेनों में 20 से 30 फीसदी तक ज्यादा किराया लगता है। रेल अधिकारियों के मुताबिक सीमित अवधि वाली ट्रेनों में किराया पहले से ही ज्यादा लिया जाता रहा है।

जुलाई के पहले संभव नहीं...

जिन ट्रेनों में भी ज्यादा किराया लग रहा है, उसके कम होने व पहले की तरह एडजस्टमेंट के लिए यात्रियों को जुलाई तक इंतजार करना होगा। दरअसल जुलाई से ही नया टाइम-टेबल लागू किया जाता है। इसके बाद ही किसी भी तरह का बदलाव होगा।

Powered by Blogger.