REWA : तीन दिन पूर्व लापता युवक की हत्या का पुलिस ने पचमठा घाट में किया खुलासा : दो आरोपी गिरफ्तार, अन्य के ऊपर हत्या का मामला दर्ज कर तलाश जारी

                         

                            पचमठा घाट हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा 

रीवा, तीन दिन पूर्व विश्वविद्यालय थाना क्षेत्र से लापता युवक कृष्णा यादव के हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। ज्ञातव्य हो कि 3 दिन पूर्व कृष्णा यादव उम्र 22 वर्ष निवासी बोदाबाग रात को अपने घर से किसी वैवाहिक कार्यक्रम में जाने के लिए कह कर घर से निकला था किंतु घर वापस नहीं आया। इसी दौरान अगले दिन कृष्णा यादव की मोटरसाइकिल पचमठा घाट में लावारिस हालत में नदी के भीतर मिली थी। सीढ़ियों में खून के निशान भी पड़े हुए थे,जिससे प्रारंभ से ही कृष्णा यादव के हत्या हो जाने की आशंका व्यक्त की जा रही थी। 

पुलिस ने गोताखोर के माध्यम से लगातार दो दिन से शव को ढूंढने का प्रयास कर रही थी काफी मशक्कत के बाद दूसरे दिन कृष्णा यादव के शव को घटनास्थल से थोड़ी ही दूर पर बरामद कर लिया था। कृष्णा यादव के शव में चेहरे पर गंभीर चोट के निशान दिखाई दे रहे थे, जिससे ऐसा प्रतीत हो रहा था की अज्ञात व्यक्तियों द्वारा कृष्णा यादव की किसी भारी चीज से मारकर हत्या की गई है। जिसके आधार पर विश्वविद्यालय थाना प्रभारी जेपी पटेल द्वारा अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध  हत्या का मामला पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था। 

पूरे मामले को पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन के मार्गदर्शन में विश्वविद्यालय थाना प्रभारी जेपी पटेल,कोतवाली थाना प्रभारी आदित्य प्रताप सिंह के नेतृत्व में लगातार क्षेत्र के संदेहियो से पूंछताछ की गई एवं साइबर सेल के सहयोग से आरोपियों तक पहुंचने का प्रयास किया गया। इसी दौरान कोतवाली थाना अंतर्गत पांच की संख्या में डकैती की योजना बनाते हुए युवाओं को घातक हथियारों के साथ पकड़ा गया, जिन से कड़ाई से पूंछताछ के दौरान उनमें से दो आरोपी मकसूद अहमद पिता मंजूर अहमद उम्र 24 वर्ष निवासी घोघर एवं यासीन हसन उर्फ यासीन खान पिता नासिर उल हसन उम्र 22 वर्ष निवासी घोघर के द्वारा दिनांक 20/4/2022 को दरमियानी रात पँचमठा घाट के पास  दो अन्य आरोपियों के साथ मिलकर  घाट में कृष्णा यादव के साथ नशा करना बताया एवं बाद में कृष्णा यादव से अचानक विवाद हो जाने पर मकसूद अहमद,यासीन हसन,रोहित जयसवाल एवं गोलू खान चारों व्यक्तियों के द्वारा मिलकर कृष्णा यादव का पत्थर पटक कर हत्या कर दिए। 

गोलू खान और रोहित ने कृष्णा के गले से सोने की चैन निकाल लिए एवं बाद में कृष्णा यादव के शव को चारों लोगों ने उठाकर नदी में फेंक दिया। कृष्णा यादव की बाइक व मोबाइल को भी नदी के गहरे पानी में फेंक दिया था। मोटर साइकल को भी पुलिस द्वारा बरामद कर लिया गया है। 

मकसूद अहमद एवं यासीन हसन को पुलिस द्वारा गिरफ्तार करते हुए आरोपियों को पुलिस रिमांड में लेकर अन्य आरोपियों के संबंध में पूंछताछ व तलाश पतासाजी की जा रही है। उक्त घटना में शामिल फरार शेष आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस की अलग-अलग टीमें तैयार की गई हैं। 

पकड़े गए आरोपीयों को गिरफ्तार करने में थाना विश्वविद्यालय के उप. निरीक्षक संग्राम सिंह ,सहायक उप. नि.सुशील त्रिपाठी,प्रधान आरक्षक झलक नारायण,सुरेश सिंह,सायबर के गौरव मिश्रा एवं कोतवाली थाने के स्टॉफ की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Powered by Blogger.