Twitter ने लिया बड़ा फैसला : अब अपने प्लेटफॉर्म पर नहीं दिखएगा ये एड्स


पॉपुलर माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट Twitter ने एक बड़ा फैसला लिया है. Twitter ने कहा वो वैसे एड्स को अपने प्लेटफॉर्म पर नहीं दिखाएगा जो क्लाइमेट चेंज पर वैज्ञानिक पक्ष को नहीं मानते हैं. इस पॉलिसी को पहले से सर्च इंजन जायंट गूगल ने लागू कर रखा है. 

ट्विटर ने अपने एक स्टेटमेंट में बताया कि एड्स की वजह से क्लाइमेट चेंज के बारे में जरूरी बातचीत अलग नहीं होना चाहिए. इसको लेकर माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ने ये भी बताया कि ये फैसला दिखाता है कि Twitter कॉर्बन फुटप्रिंट को कम करने पर काम कर रहा है. 

कंपनी के अनुसार, ये फैसला तब लिया गया जब Intergovernmental Panel on Climate Change (IPCC) की चेतावनी वाली रिपोर्ट आई कि ग्रीनहाउस गैम इमिशन को 2030 तक आधा करने की जरूरत है वर्ना तबाही आ सकती है. 

Twitter ने अपने ब्लॉग पोस्ट में कहा है कि क्लाइमेट चेंज पर क्रेडबिल, ऑथोरिटेटिव जानकारी की जरूरत है. इन जानकारी को सही तरीके से पहुंचाने के लिए वैसे भ्रामक एडवरटाइजमेंट को ट्विटर से हटाया जाएगा जो वैज्ञानिकों की बात को इस पर नहीं मानते हैं. 

कंपनी ने कहा उसका मानना है कि क्लाइमेट को बर्बाद करने वाले कंटेंट ट्विटर पर मॉनिटाइज नहीं होने चाहिए. इस वजह से Twitter ने क्लाइमेट चेंज पर मिसलीड करने वाले सभी एड्स को बैन कर दिया है. ऐड्स बैन के अलावा कंपनी ने अपने उन फैसलों के बारे में भी बताया जो एनवायरमेंटल फ्रेंडली है. 

आपको बता दें कि Twitter में लगभग 9 परसेंट की हिस्सेदारी खरीदने के बाद मस्क अब पूरी कंपनी खरीदना चाहते हैं. जिसके लिए इसके शेयरहोल्डर तैयार नहीं हैं. 

Powered by Blogger.