Bageshwar Dham : आखिर कौन हैं ये चमत्कारी महाराज ? भारत में चर्चा का विषय बना बागेश्वर धाम सरकार : पढ़िए

Bageshwar Dham Sarkar-आजकल बहुत ही लोकप्रिय होता जा रहा है | यहां पर भगवान श्री बालाजी की महिमा बताई जा रही है| बागेश्वर धाम में जो भी श्रद्धालु आता है | उसकी सभी मनोकामनाएं पूरी की जाती है | यहां पर आपको अपनी अर्जी लगा कर जो भी समस्याएं हैं | उन सभी समस्याओं के समाधान आसानी से हो जाते हैं | तो अगर आप भी ” Bageshwar Dham ” जाना चाहते हैं | और इसके दर्शन करना चाहते हैं | तो हम आपको यहां पर Bageshwar Dham Sarkar बालाजी की पूरी जानकारी यहां पर देंगे | आप बागेश्वर धाम बालाजी मंदिर कैसे जा सकते हैं | और ” Bageshwar Dham Sarkar ” जाने के लिए आपको कौन से रास्ते का चयन करना होता है बागेश्वर धाम जाने में कितना खर्चा आता है | उसकी पूरी जानकारी हम आप को विधिवत बताएंगे|

Pandit Dhirendra Krishna Shastri : मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के ग्राम गड़ा में स्थित सिद्ध स्थान बागेश्वर धाम सरकार (Bageshwar Dham Sarkar) इन दिनों पूरे भारत में चर्चा का विषया बना हुआ है। बागेश्वर धाम (Bageshwar Dham Sarkar) में रोजाना लाखों की तादात में भक्त अपनी मनोकामनाएं लेकर पहुंच रहे है। बताया जा रहा है कि बागेश्वर धाम (Bageshwar Dham Sarkar) के मुख्य पंड़ित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) भक्त को देखकर ही बता देते है कि उनके मन में क्या चल रहा है। बागेश्वर धाम सरकार (Bageshwar Dham Sarkar) में आप जैसे ही पहुंचते है आपके उपर जो भी साया होता है । वो अपने आप ही उतर जाता है। महाराज धाम पर आए हर एक व्यक्ति के मन की बात जान लेते है। और उनके दुखो को दूर करने के उपाय भी बता देते है। इतना ही नहीं पंडीत धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री की कृपा से धाम में हर दिन भंडारा चालू रहता है।

आखिर कौन हैं ये चमत्कारी महाराज

पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) जी का जन्म 4 जुलाई 1996 में छतरपुर जिले के छोटे से गांव ग्राम गड़ा में हुआ था। पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) का बचपन यही उनके गांव गड़ा में बीता है। बताया जाता है। कि वो बचपन से ही बहुत धीर और दयालु थे। धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) का जन्म एक सामान्य परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम राम करपाल गर्ग था। उनकी माता जी का नाम सरोज गर्ग है। उनके दादाजी का नाम भगवान दास गर्ग है। पंडीत धीरेन्द्र शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) के दादाजी एक अच्छे विद्वान थे। वह निर्मोही अखाड़े से जुड़े हुए थे। पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) अपने दादाजी को ही अपना गुरु मानते थे। उन्होंने ही उन्हें रामायण, और भागवत गीता का अध्ययन करना सिखाया था।

पंडीत धीरेन्द्र शस्त्री की शिक्षा

पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) एक गरीब परिवार से थे, इसलिए उनको उच्च शिक्षा प्राप्त नहीं पाई थी। वह सरकार स्कूल में ही पढ़ें। पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) 8वी तक अपने गांव में ही पढ़ाई की थी। इसके बाद की पढ़ाई के लिए वो 5 किलोमीटर पैदल चल कर गंज में आते थे। उन्होंने 12वी तक की पढ़ाई गंज से की थी। और बीए प्राइवेट किया। इसके बाद उनको समाज सेवा और मानव सेवा मे लग गए और पढ़ाई छोड़ दी। बताया जाता है कि पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) का परिवार बहुत गरीब था। उनके भाई और बहन भी साथ-साथ रहते थे। पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) ने 9 साल की उम्र से ही बालाजी सरकार की सेवा करना शुरू कर दी थी। उनसे पहले उनके दादाजी बालाजी सरकार का दरबार चलाया करते थे। धीरे धीरे वह 12 साल की उम्र से हनुमान जी की कृपा से भागवत गीता का प्रवचन देने लगे। और वही बालाजी जी के दरबार में साधना किया करते थे। इसी साधना का उन पर ऐसा असर हुआ की, बालाजी की कृपा से उन्हें अनेको सिद्धियां प्राप्त हुई।

महाराज के चमत्कार देखकर लोग रह जाते है दंग

बागेश्वर धाम पर आने वाले लोग पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) के चमत्कार देख कर दंग रह जाते है। महाराज से मिलने के लिए आपको अर्जी देना पढ़ती है। आप बागेश्वर धाम (Bageshwar Dham Sarkar) पर जा कर टोकन ले सकते है। लेकिन अगर आप वहां नही जा सकते है। और आप जानना चाहते है की महाराज धाम (Bageshwar Dham Sarkar) में है की नही उसके लिए बागेश्वर धाम का एक हेलिपलाइन नंबर भी है।

बागेश्वर धाम प्लेन से कैसे जाएं?

अगर आप हवाई जहाज के माध्यम से Bageshwar Dham Sarkar Chhatarpur जाना चाहते हैं | तो इसके लिए आपको बागेश्वर धाम के नजदीकी एयरपोर्ट खजुराहो एयरपोर्ट पर आना होगा खजुराहो एयरपोर्ट पर आने के लिए आप दिल्ली से फ्लाइट बुक कर सकते हैं अगर आप छोटे शहरों से आ रहे हैं | जैसे भोपाल ग्वालियर तो यहां से आपको फ्लाइट के माध्यम से पहले दिल्ली जाना होगा फिर यह फ्लाइट आपको खजुराहो लाते हैं | तो अगर आप सीधे दिल्ली से आ रहे हैं तो दिल्ली टू खजुराहो के लिए फ्लाइट बुक कर सकते हैं | और फिर खजुराहो से आपको बस के माध्यम से छतरपुर आना होगा और फिर छतरपुर से आप कोई प्राइवेट टैक्सी करके Bageshwar Dham पहुंच सकते हैं|

Bageshwar Dham Sarkar Chhatarpur स्वयं के वाहन से कैसे जाएं?

अगर आप Bageshwar Dham Sarkar Chhatarpur स्वयं का बाहर लेकर आ रहे हैं | तो हमने आपको यहां पर ( Bagheshwar Google Map ) दे रखी है यहां पर आपको क्लिक करना है | और आप बागेश्वर धाम की लोकेशन सर्च कर पाएंगे और अगर आप सीधे ही आना चाहते हैं | तो उसके लिए सबसे पहले आपको छतरपुर आना होगा छतरपुर से आपको पन्ना खजुराहो मार्ग पर जाना होगा तो छतरपुर से लगभग 35 किलोमीटर दूर पर आपको घड़ा टावर दिखा यहां से 3 किलो अंदर बागेश्वर धाम स्थित है|


                         bagheshwar dham on googlemap

Delhi To Bageshwar Dham Chhatarpur Train?

अगर आप दिल्ली से बागेश्वर धाम सरकार आना चाहते हैं तो आप इस ट्रेन से आ सकते हैं जो कि आपको सीधे दिल्ली से छतरपुर तक लाएगी जिसकी जानकारी नीचे दी गई है |

ट्रेन का नाम       गाड़ी चलने का समय       छतरपुर पर पहुंचने का समय   गाड़ी संख्या

KURUKSHETRA – KHAJURAHO Gita Jayanti Express 18:20NDLS 06:23 MCSC 11842

Bageshwar Dham Tokan क्या है?

बागेश्वर धाम महाराज के दर्शन करने के लिए वहां से टोकन जारी किए जाते हैं | ” Bageshwar Dham Tokan ” बागेश्वर धाम के कर्मचारियों द्वारा वितरित किए जाते हैं यह टोकन ऐसे लोगों को दिए जाते हैं जो बागेश्वर धाम में अपनी अर्जी देना चाहते हैं बागेश्वर धाम की इस टोकन मैं आपको अपना नाम अपना स्थान अपना मोबाइल नंबर जानकारी के लिए है |

बागेश्वर धाम में टोकन कैसे मिलता है?

आपको ” Bageshwar Dham Tokan ” लेने के लिए बागेश्वर धाम स्थान पर एक विशेष दिन जाना होगा क्योंकि बागेश्वर धाम में प्रत्येक महीने में विशेष तारीख को केवल एक ही दिन टोकन को वितरित किया जाता है | पिछली बार यह टोकन 6 तारीख को बांटा गया था | यह जानकारी समय-समय पर इसलिए आप एक बार बागेश्वर धाम जाकर पता करें कि अगला टोकन किस तारीख को दिया जाएगा और आप उस तारीख को जाकर वहां से Bageshwar Dham Tokan ले सकते हैं | Bageshwar Dham Tokan मिलने के बाद ही आप की अर्जी बागेश्वर धाम में लगेगी|

घर बैठे ” Bageshwar Dham Arji ” कैसे लगाएं?

महाराज जी द्वारा बताया गया है कि अगर आप घर बैठे BageshwarDham Sarkar Arji लगाना चाहते हैं तो आपको लाल कपड़े के अंदर नारियल बांधकर अपने मंदिर में रख देना है | जो आपने घर में बनाया हुआ है और आपको नियमित तौर पर श्री राम का जाप करना है और इसके बाद जब आपको बालाजी के दर्शन सपने में होंगे तो आप समझ जाइए कि आप की अर्जी बागेश्वर धाम में स्वीकार कर ली गई है इसके साथ-साथ आप बागेश्वर धाम जाकर भी अपनी अर्जी लगा सकते हैं|

Bageswardham Sarkar घर बैठे अर्जी कैसे लगाये?

दोस्तों अगर आप घर बैठे ही BageshwarDham Sarkar की अर्जी लगाना चाहते हैं | तो आप बागेश्वर धाम अर्जी घर बैठे कैसे लगा सकते हैं | उसकी पूरी जानकारी आपको नीचे बताई गई है | जो कि बागेश्वर धाम सरकार गुरु जी के द्वारा बताई गई है |

आपको एक लाल रंग का कपड़ा लेना है |

अब आपको उसमें एक नारियल को लपेट लेना है|

जब आप नारियल को लाल कपड़े में लपेटे उस समय मन में अपनी अर्जी बांध लेवे|

और भगवान बागेश्वर धाम का मन में जाप करते हुए लाल कपड़े में बंधे हुए नारियल को अपने भगवान के स्थान पर रखें|

इसके बाद आपको ओम बागेश्वर आए नमः का जाप करें|

इस प्रकार से आप अपनी अर्जी घर बैठे लगा सकते हैं|

कैसे पता करें BageshwarDham Arji लगी या नहीं?

अगर आपने BageshwarDham Sarkar की अर्जी घर बैठे बांधी है| और आप यह जानना चाहते हैं कि आप की अर्जी बागेश्वर धाम सरकार ने मानने की है या नहीं तो इसका उदाहरण यह है | कि आपको भगवान बालाजी लगातार दो दिन सपने में वानर रूप में दिखाई देंगे| अगर आपको लगातार दो दिन बाद हर रूप में भगवान बालाजी दिखाई देते हैं तो आप समझ जाइए कि आपकी अर्जी स्वीकार कर ली गई है|

Bageshwar Dham Sarkar Ki Mahima? ( बागेश्वर धाम की महिमा )

आपको हम बता दें बागेश्वर धाम की महिमा बहुत ही चमत्कारिक है यहां पर साक्षात श्री हनुमान जी महाराज बालाजी धाम के नाम से बहुत ही व्यक्ति आत है यहां पर श्री धीरेंद्र कृष्ण जी महाराज लोगों को उनकी सभी समस्याओं का समाधान कर देते हैं| लोगों के बिना बताए उनकी सारी समस्याएं बता देते हैं उन्हें क्या-क्या क्या दुख है वह उनकी पूरी जानकारी उनके बिना बताए ही उन्हें एक कागज पर लिख कर दे देते हैं | यहां से भूत प्रेत बाधा आसानी से दूर हो जाती है अगर आप भी ” Bageshwar Dham ” गए हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं कि आपको वहां पर जाकर कैसा लगा और चमत्कार का विवरण पूरा नीचे लिखें|

ऑनलाइन बागेश्वर महाराज की कथा हम कैसे सुन सकते हैं?

बागेश्वर महाराज की कथा सुनने के लिए आपको दो तरीके अपनाने होंगे आप यूट्यूब के माध्यम से भी बागेश्वर महाराज की कथा सुन सकते हैं और अगर आप टीवी के माध्यम से बागेश्वर महाराज जी की कथा सुनना चाहते हैं तो आप अपने टीवी के माध्यम से भी Bageshwar Maharaj Katha सुन सकते हैं 

यूट्यूब के माध्यम से Bageshwar Dham Sarkar Chhatarpur की कथा कैसे सुने:

अगर आप यूट्यूब के माध्यम से Bageshwar Maharaj Ki Katha सुनना चाहते हैं तो आपको यूट्यूब चैनल पर बागेश्वर धाम सर्च करना है जैसे ही आप यूट्यूब पर बागेश्वर धाम सर्च करेंगे वहां पर बागेश्वर महाराज की कथाएं आपको दिखाई देंगे आप यहां से लाइव बागेश्वर महाराज की राम कथा सुन सकते हैं|

टीवी के माध्यम से बागेश्वर महाराज की कथा कैसे सुने:

अगर आप अपने टीवी के माध्यम से Bageshwar Maharaj Katha सुनना चाहते हैं तो आपको संस्कार टीवी चैनल पर या आस्था टीवी चैनल पर ” Bageshwar Maharaj Ram Katha ” दिखाई जा रही है जब भी बागेश्वर महाराज कहीं पर जाकर अपनी राम कथा करते हैं तो वह सीधे ही उसका संस्कार चैनल पर या आस्था चैनल पर लाइव प्रसारण किया जाता है तो आप यहां से इन की लाइव कथा सुन सकते हैं |

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे अपने दोस्तों के साथ Like और Share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted By : Rituraj dwivedi, sonali dixit & abhishek dubey

Powered by Blogger.