SINDHU MOOSEWALA CASE : मूसेवाला का बदला लेने 7 गैंग एकजुट : दिल्ली का दाऊद नीरज बवाना भी आया आगे, अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के कत्ल के लिए D कंपनी ने नीरज को दी थी सुपारी

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में अब कुख्यात गैंगस्टर भूप्पी राणा की भी एंट्री हो गई है। राणा ने कहा कि वह सिद्धू मूसेवाला के कत्ल का बदला लेंगा। राणा ने कातिलों का पता बताने वालों के लिए 5 लाख इनाम की भी घोषणा कर दी है। सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए राणा ने कहा कि कातिल पंजाब या कैनेडा, अमेरिका बैठा हो, उसके बारे में सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा।

राणा ने अपने ग्रुप में दविंदर बंबीहा, नीरज बवाना, टिल्लू ताजपुरिया, कौशल चौधरी, गौंडर, सुनील राठी और शेरा खुब्बन को भी साथ में बताया है। सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को शाम साढ़े 5 बजे मानसा के जवाहरके में गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी।

भूप्पी राणा ने लिखा- एक-एक से हिसाब लिया जाएगा

भूप्पी राणा ने लिखा कि मूसेवाला का मानसा में कत्ल कर दिया गया। पंजाबी इंडस्ट्री में जट्‌ट की तूती बोलती थी। लॉरेंस और गोल्डी बराड़ झूठे फेम के लिए कहते हैं कि मूसेवाला ने गुरलाल बराड़ और विक्की मिड्‌डूखेड़ा के कत्ल में बंबीहा ग्रुप की मदद की। यह बात झूठी है। हम जो भी करते हैं, अपने दम पर करते हैं। लॉरेंस ग्रुप जो भी करता है, उसे अपने मरे लोगों के साथ जोड़ देता है। जिसने भी मूसेवाला के कत्ल में मदद की, एक-एक से हिसाब लिया जाएगा। सिद्धू के परिवार, दोस्त और प्रशंसकों से हमारी हमदर्दी है। हम सिद्धू को वापस नहीं ला सकते लेकिन मौत का बदला जरूर लेंगे।

लॉरेंस गैंग का कट्‌टर दुश्मन भूप्पी राणा

भूप्पी राणा गैंग और लॉरेंस गैंग में कट्‌टर दुश्मनी है। उनके बीच जेल के अंदर तक मारपीट हो चुकी है। भूप्पी राणा पर हरियाणा और पंजाब में कत्ल समेत कई अपराधों के 25 से ज्यादा केस दर्ज हैं।

‘दिल्ली का दाऊद’ नाम से मशहूर नीरज बवाना भी दे चुका धमकी

दिल्ली NCR का कुख्यात गैंगस्टर नीरज बवाना भी मूसेवाला की हत्या का बदला लेने की धमकी दे चुका है। दिल्ली-NCR में ‘दिल्ली का दाऊद’ नाम से मशहूर नीरज बवाना का ताल्लुक D कंपनी तक से माना जाता है। दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन के कत्ल के लिए D कंपनी ने नीरज बवाना से ही संपर्क कर सुपारी दी थी। जेल अधिकारियों ने इसकी भनक लगने के बाद तिहाड़ जेल में सुरक्षा बढ़ा दी और छोटा राजन को जेल के दूसरे एरिया में शिफ्ट कर दिया था। बवाना गैंग के पास 300 से ज्यादा शूटर हैं। वह भी तिहाड़ जेल में बंद है। लॉरेंस और बवाना गैंग के बीच कई बार टकराव भी हो चुका है।

अकाउंट वैरिफाइड नहीं, लेकिन गैंगस्टर्स का यही तरीका

जिन सोशल मीडिया अकाउंट्स से अब मूसेवाला के कत्ल का बदला लेने की धमकी दी जा रही है, वह वैरिफाइड नहीं हैं। हालांकि गैंगस्टर्स और खासकर बंबीहा ग्रुप का यही तरीका है। हर बार कत्ल की जिम्मेदारी लेने या धमकी देने के लिए वह नया अकाउंट बना लेते हैं। पुलिस के अफसर भी मानते हैं कि गैंगस्टर ट्रैक होने के डर से एक ही अकाउंट इस्तेमाल नहीं करते।

Powered by Blogger.