MP : समलैंगिक प्यार में पड़ी दो बहनें घर से भागी, लिखा; प्यार चढ़ा परवान तो उठाया ये बड़ा कदम

मध्यप्रदेश में समलैंगिक संबंध के चलते दो युवतियां अपने घर से भाग गई। इसमें से एक युवती बड़वानी के राजपुर थाना क्षेत्र की है। वहीं दूसरी युवती धार जिले के मानपुर थाना क्षेत्र की है। बड़वानी की युवती ने घर वालों के लिए 2 पेज का पत्र छोड़ा है। पत्र में युवती ने कहा कि हम दोनों अलग होने की सोच भी नहीं सकते। इसलिए हम घर से दूर मरने जा रहे हैं। हमें ढूंढने की कोशिश ना करें।

लेटर में युवती ने ये लिखा

मैं और मेरी मौसी की लड़की एक-दूसरे से बहुत प्यार करते हैं। एक-दूसरे के बिना नहीं रह सकते हैं, इसलिए हम दोनों ने सोचा है कि कहीं दूर जाकर मर जाएंगे। हमें पता है कि यह बहुत गलत है। मैं भी हमेशा से इन सब चीजों के खिलाफ थी, लेकिन हम दोनों के पास और काेई रास्ता नहीं है। दीदी की शादी में हम दोनों की दोस्ती हुई थी। ये दोस्ती कब प्यार में बदल गई पता ही नहीं चला।

हम दोनों की ये हालत है कि एक-दूसरे के बिना जीना तो दूर जीने के बारे में सोच भी नहीं सकते। मार्च में मौसी के यहां चिप्स बनाने के बहाने गई थी, लेकिन ये सिर्फ बहाना था। मैं मेरी प्रेमिका से मिलने गई थी। तभी हम दोनों ने एक-दूसरे से शादी कर ली। उसके घर के कमरे में हमने सात वचन लिए थे। इसमें जीएंगे तो साथ और मरेंगे तो साथ का वचन लिया था। अब साथ जी तो नहीं सकते, लेकिन साथ में मर तो सकते हैं। क्या जरूरी है कि लड़की की शादी लड़के से ही हो? ऐसा हम दोनों नहीं मानते। शादी तो तब ही होगी जब प्यार हो।

जब किसी से सच्चा प्यार हो तो तब यह नहीं देखा जाता है कि लड़का है या लड़की। काश फैमिली और कास्ट सब हमारी फीलिंग समझ पाते। हमें पता है कोई नहीं समझेगा। सभी हमारी फीलिंग का मजाक उड़ाएंगे। प्रेमिका के घरवालों को शक हो गया था। हम दोनों की चैटिंग पढ़ ली थी। हमारी बात बंद करवा दी थी। 15 दिन से हमारी बात नहीं हो रही थी, कभी-कभी मैसेज पर बात हो रही थी। हमारी बात बंद करवा दी तो हमें एहसास हुआ कि अब मर जाना ही ठीक होगा। पहले पूरा दिन बातचीत होती थी।

सुबह उठते ही वीडियो कॉल चालू होता था। यह बात घर में सबको पता है कि मैं सिर्फ उससे ही बात करती थी। मैंने दोस्त के अलावा किसी के बारे में कभी नहीं सोचा। मुझे माफ कर देना कि मैं इतना बड़ा कदम उठा रही हूं। भैया, मम्मी-पापा का ध्यान रखना है। बड़ी दीदी अभी गई है, छोटी दीदी को बुला लेना, मम्मी को अच्छा लगेगा। सबसे ज्यादा मुझे पापा प्यार करते हैं, मेरी तरफ से उन्हें सॉरी बोलना। हम दोनों को ढूंढने की कोशिश मत करना, हम बहुत दूर जाकर मरेंगे।

आसपास मरे तो आप हमारी लाशों को अलग कर दोगे। जीते जी तो साथ रहने नहीं दिया प्लीज चेन से मरने देना। मैंने घर में कितनी बार बोला है कि मेरी दोस्त से ही शादी करूंगी, लेकिन सभी ने मेरी बात को मजाक में लिया था। मैं मजाक नहीं कर रही थी। आप लोग सोच रहे होंगे कि मुझे ढूंढकर किसी भी लड़के से मेरी शादी करवा देंगे, लेकिन ऐसा मैं नहीं करूंगी। आपकी बेटी

दोनों की तलाश में जुटी पुलिस

परिजनों की शिकायत पर राजपुर पुलिस ने युवती की गुमशुदगी का मामला दर्ज कर उसकी तलाश में टीम को रवाना किया है। बताया जा रहा है कि इस तरह का लेटर मानपुर पुलिस को भी मिला है। पुलिस चिट्टी में लिखी हैंडराइटिंग की जांच करवा रही है। परिजनों का कहना है कि दोनों युवतियां आपस में बहनें है, सगी मौसी की लड़कियां हैं।

शादी समारोह में हुई दोस्ती प्यार में बदली

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार, थाना क्षेत्र में रहने वाली 22 वर्षीय युवती 13 जून को एक चिट्टी लिखकर लापता हो गई। युवती ने चिट्टी में लिखा कि 6 महीने पहले मनावर के पास गांव में रिश्तेदार की शादी में उसकी दोस्ती हमउम्र मौसी की लड़की से हुई। सोशल मीडिया पर उनकी बातचीत होने लगी और वो प्यार में बदल गई।

परिजनों ने उनकी चैटिंग पढ़कर दोनों को बात करने से रोक दिया। युवती ने चिट्टी में मनावर की युवती से शादी करने की बात लिखी है। परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने गुमशुदगी का केस दर्ज किया है। पुलिस ने एक टीम युवती की तलाश करने अन्य प्रदेश में भेजी है। युवती के बयान के बाद ही समलैंगिक विवाह होने की स्थिति स्पष्ट हाेगी।

लड़की के मिलने के बाद स्थिति होगी स्पष्ट

राजपुर टीआई यशवंत बड़ोले ने बताया कि थाना क्षेत्र के एक गांव की युवती घर में चिट्टी रखकर चली गई है। जिसमें उसने मनावर के पास गांव में रहने वाली युवती से प्यार करने और शादी करने की बात लिखी है। युवती को बरामद कर उसके बयान लेने के बाद ही समलैंगिक विवाह की स्थिति स्पष्ट होगी।

Powered by Blogger.